udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news ukd १७ प्रत्याशियों की घोषणा की » Hindi News, Latest Hindi news, Online hindi news, Hindi Paper, Jagran News, Uttarakhand online,Hindi News Paper, Live Hindi News in Hindi, न्यूज़ इन हिन्दी हिंदी खबर, Latest News in Hindi, हिंदी समाचार, ताजा खबर, न्यूज़ इन हिन्दी, News Portal, Hindi Samachar,उत्तराखंड ताजा समाचार, देहरादून ताजा खबर

ukd १७ प्रत्याशियों की घोषणा की

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

भाजपा एवं कांग्रेस ने बारी बारी से जनता को छलने का कार्य किया: त्रिपाठी
उत्तराखंड क्रांति दल के केन्द्रीय अध्यक्ष पुष्पेश त्रिपाठी ने कहा है कि भाजपा एवं कांग्रेस ने बारी बारी से जनता को छलने का कार्य किया है। उनका कहना है कि भाजपा व कांग्रेस की जन विरोधी नीतियों को जनता के बीच ले जाया जायेगा। इस अवसर पर उन्होंने आगामी २०१७ में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए १७ प्रत्याशियों की घोषणा की।
यहां कचहरी रोड़ स्थित दल के केन्द्रीय कार्यालय में पत्रकारों से रूबरू होते हुए उनका कहना है कि पूर्व आईएएस मदन सिंह को गंगोत्री, पंकज व्यास प्रतापनगर, राकेश सेमवाल धनौल्टी, बलवंत सिंह नेगी कर्णप्रयाग, गंगाधर सेमवाल, वीर प्रताप सिंह आर्य पौडी, शांति प्रसाद भटट यमकेश्वर, हरीश द्विवेदी कोटद्वार, विक्रम सिंह रावत लैंसडाउन, दिगम्बर भंडारी विकासनगर से, जय प्रकाश उपाध्याय को मसूरी, अनिल डोभाल को रायपुर, बहादुर सिंह रावत को धर्मपुर, डी के पाल को डोईवाला, तीरथ सिंह राही को चौबटटाखाल, राजेन्द्र गैरोला को ऋषिकेश का प्रत्याशी बनाया है।
उनका कहना है कि राज्य की जनता ने एक ऐतिहासिक आंदोलन ही नहीं किया बल्कि ४२ शहादतें भी दी और सोलह वर्षों में बारी बारी से सत्ता में आई भाजपा कांग्रेस सरकारों ने राजय में नौ मुख्यमंत्री तो दिये किन्तु जनता को पानी, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी मूलभूत समस्याओं का समाधान नहीं कर पाई है और राज्य की जनता जहां आज अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है। उनका कहना है कि जनता की समस्याओं के समाधान के लिए किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है जो चिंता का विषय है।
उनका कहना है कि दल अब अगस्त क्रांति की तर्ज पर आठ अगस्त से राज्य में भाजपा कांग्रेस उत्तराखंड छोडो आंदोलन छेडने जा रहा है और उत्तराखंड के लिए अगस्त माह का महत्व इसलिए भी है कि राज्य की मांग के आंदोलन में राज्य आंदोलनकारियों पर पहला लाठीचार्ज अगस्त माह में पौडी में हुआ था। सवतंत्रता संग्राम में उत्तराखंड में सबसे अधिक नौ शहादतें इसी माह हुई है और इसी माह में १९ अगस्त, २५ अगस्त को स्वतंत्रता सग्राम सेनानियों पर गोली चलाई थी, इसलिए इस माह का अलग ही महत्व है। इस अवसर दल के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।
0

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.