... ...
... ...

टिहरी झील साहसिक पर्यटन के साथ पर्यटन गतिविधियों के लिए उपयुक्त

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
नई टिहरी । प्रदेश के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने टिहरी झील में हो रहे पर्यटन कार्यो की निरीक्षण के दौरान कार्यो में शिथिलता देख सम्बन्धित अधिकारियों को कडी फटकार लगाते हुए अधूरे कार्य जल्दी पूरे करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि टिहरी झील साहसिक पर्यटन के साथ ही साथ अन्य पर्यटन गतिविधियों के लिए उपयुक्त है तथा इसमे पर्यटन की अपार सम्भावनायें है।
उन्होने बताया कि साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में निवेशकों को आकर्षित किया जा रहा है ताकि टीहरी झील को पर्यटक हब के विकसित की जा सके, इससे स्थानीय लोगो को रोजगार के और अधिक अवसर प्राप्त होंगे। उन्होने टाडा से टिहरी झील में पर्यटन की सम्भावनों, गतिविधियों के सम्बन्ध में मास्टर प्लान तैयार करने के निर्देश भी दिये। निरीक्षण के दौरान पर्यटन मंत्री ने कहा कि नौकायन के दौरान सुरक्षा जैकेट तथा नोकाओं की तकनिकी जॉच के उपरान्त ही नौका संचालन की अनुमति दी जाए।
उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्लोटिंग हटों का संचालन शीघ्र प्रारम्भ करें ताकि यहॉ आने पर्यटकों को इसका लाभ मिल सके इसके अलावा करोड़ो रु0 की लागत से बने कोटी कालोनी में साहसिक खेल एकेदमी के सक्रियता के साथ संचालन के निर्देश दिये ताकि अधिक से अधिक लोग साहसिक पर्यटन में दक्षता प्राप्त कर सके। इसके अलवा टिहरी झील से सम्बन्धित प्रस्तावित योजना का खाका तैयार कर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये है ताकि इस दिशा में कार्यवाही की जा सके। इसके उपरान्त उन्होने निर्माणाधीन डोबराचॉटी पुल की भी जानकारी ली।
इसके उपरान्त पर्यटन मंत्री टीएचडीसी गेस्ट हाउस में बैठक के दौरान पुनर्वास के अधिकारियों को निर्देश दिये कि पुनर्वास से सम्बन्धित लम्बित प्रकरणों को तत्काल निस्तारित करें तथा टिहरी झील के चारों और भूमि सम्बन्धी मामलों पर सम्बन्धित विभाओं के साथ संयुक्त बैठक कर कार्यवाही के निर्देश दिये ताकि भारत सरकार के इस मेगा प्रोजेक्ट को गति प्रदान की जा सके। इस अवसर क्षेत्रीय विधाय धन सिंह नेगी ने पर्यटन मंत्री को टिहरी झील में पर्यटन की अपार सम्भावनाओं से अवगत कराते हुए कहा कि टिहरी झील उत्तराखण्ड के साथ ही साथ ही अन्य राज्यो को भी विद्युत प्रदान कर रोशन कर रही है।
उन्होने इस अवसर पर पर्यटन मंत्री को कोटी कालोनी में गांगा आर्ति के लिए स्थ्ल(प्वांइट) महत्व को बताते हुए इसे विकसित, निर्माण करने की बात भी कही। इस अवसर पर अपर निदेशक पर्यटन पुरोशतम कुमार ने बताया कि स्वदेश योजना के अन्तर्गत 80 करोड़ के कार्य होने है जिसमें से 55 करोड़ के कार्य गतिमान है। गतिमान कार्यो में नई टिहरी में पार्किंग निर्माण, डांडचली में इको पार्क के निर्माण के साथ ही साथ कोटी में झील के किनारे साईकिल ट्रेक, रिंग रोड आदि के निर्माण कार्य शामिल है, इसमें रिंग रोड निर्माण हेतु भूमि हस्तान्तरण की कार्यवाही लोनिवि द्वारा जी जानी है।
इस अवसर पर कोटी में नाव संचालकों ने लाईसेन्स फीस को कम करने तथा कोटी कालोनी का व्यवसायिक दुकानों को टीएचडीसी के माध्यम से टीक करवाने की बात कई। इस अवसर पर ब्लॉक प्रमुख जाखणीधार बेबी असवाल, निदेशक जीएनवीएन पंकज भटट, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय नेगी, उप जिला अधिकारी चतर सिंह चौहान, अ0अभि0 पुनर्वास राकेश थपलियाल, मनीष उनियाल, कुलदीप पंवार के अलावा पर्यटन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।
Loading...