उत्तराखंड विधानसभा का विशेष सत्र, विपक्ष का खाद्यान्य की बढ़ी कीमतों पर हंगामा

देहरादून: प्रचंड बहुमत वाली उत्तराखंड की भाजपा सरकार के लिए प्रचंड बहुमत के बाद भी सदन में विरोधियों के वार का सामना करना पड रहा है। आज सदन के सत्र में विपक्ष ने भारी हंगामा किया। जिस कारण सदन को कल तक के लिए स्थगित करना पडा।

 

आज सदन का सत्र वंदे मातरम के गायन के साथ उत्तराखंड विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो गया है। सत्र शुरू होते ही खाद्यान्य की बढ़ी कीमतों पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया।प्रश्नकाल से पहले ही नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने एपीएल के लिए खाद्यान्न की कीमत में वृद्धि का मामला उठाया। यह मुद्दा नियम 58 में सुना जाएगा। वहीं कांग्रेस विधायक प्रीतम पंवार ने पर्वतीय क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवा बेहतर करने के लिए क्या कार्ययोजना है। संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने इस मामले में जवाब दिया।

 

 

 

उन्होंने बताया कि सरकार पर्वतीय क्षेत्र में आईपीडी ओर ओपीडी के लिए सुवि रही है। साधारण चिकित्सको के पद भरने के लिए चयन बोर्ड को अधियाचन भेजा गया है। डेंटल के लिए परीक्षा हो चुकी है। इस पर प्रीतम पंवार ने कहा कि वैकल्पिक व्यबस्था की जा रही है या नही, दुर्गम भत्ता देने की क्या व्यवस्था है। पंत ने कहा कि सरकार लगातार इस और प्रयास कर रही है।कांग्रेस विधायकों ने पिथौरागढ़ में बाबा साहेब भीमराव अंंबेडकर की मूर्ति खंडित किए जाने का मामला उठाते हुए जमकर हंगामा किया। कई सदस्यओं सरकार के खिलाफ नारे लगाए। किसी तरह अध्यक्ष ने मामला शांत कराया।

 

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल ने ने कहा पिछली खाद्यान्न में सब्सीडी का जो निर्णय लिया गया था, इस सरकार ने इस फैसले को बदलकर गरीबो के हितों की अनदेखी की। संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि इस देश मे राष्ट्रीय खाद्यान्न सुरक्षा योजना संचालित है। 61 लाख 94 हजार लोगों को राष्ट्रीय खाद्यान्न सुरक्षा के तहत कवर हो रहे है।इसके बाद पांच लाख रुपये वार्षिक आय वाले परिवारों को भी इस योजना से जोड़ने जाने का फैस्ला लिया। इस योजना तहत 39 लाख लोग लाभान्वित होंगे।

 

एपीएल तबके के लिए खाद्यान्न की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ कांग्रेस का विधानसभा में जोरदार हंगामा। इस पर अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने सदन कल तक के  लिए स्थगित कर दिया। इससे पहले सदन में वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने जीएसटी विधेयक पेश किया।  इससे पहले एंग्लो इंडियन एमएलए जार्ज मेन को विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने शपथ दिलाई।