udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news सॉफ्ट पावर के क्षेत्र में चीन से आगे भारत,चीनी मीडिया ने की भारत की तारीफ

सॉफ्ट पावर के क्षेत्र में चीन से आगे भारत,चीनी मीडिया ने की भारत की तारीफ

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पेइचिंग। आमतौर पर अपने तीखे अंदाज के लिए जाना जाने वाला चीनी मीडिया, अब भारत का मुरीद हो गया है। चीन और भारत के बीच हमेशा ही कुछ न कुछ विवाद रहा है। बावजूद इसके, भारत जिस तरह से अपनी सांस्कृतिक ताकत को विस्तार दे रहा है, उसे मजबूत बना रहा है, चीन उससे काफी प्रभावित है। चीनी मीडिया ने भारत की इसी सांस्कृतिक ताकत की तारीफ करते हुए कहा है कि भारत सॉफ्ट पावर के क्षेत्र में चीन से ज्यादा अच्छा काम कर रहा है।

हालांकि इस दौरान वह चीन की तारीफ करने से भी नहीं चूका और कहा कि सेना और अर्थव्यस्था के मामले में चीन, भारत से अव्वल है। सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स भारत की तारीफों से भरा पड़ा है। जिस तरह भारत योग को सॉफ्ट पावर का मुख्य विषय बनाने में कामयाब हुआ है, चीन उससे काफी प्रभावित हुआ है। चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स में भारत की इसी काबिलियत को व्यापक तरीके से कवर किया गया है।

साथ ही इस बात की भी तारीफ की गई है कि किस तरह से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री चीन में भारत के सॉफ्ट पावर को मजबूती प्रदान कर रही है।एशिया पसिफिक़ सेंटर के निदेशक ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि चीन को भारत से सीखना चाहिए क्योंकि सॉफ्ट पावर को प्रदर्शित करने के भारत के तरीके चीन के कुछ सरकारी समर्थन कार्यक्रमों से अधिक स्वीकार्य हैं।

चीन में छाया योग और बॉलिवुड
पिछले दो सालों में चीन में योग का काफी विस्तार हुआ है। वहां योग काफी लोकप्रिय हो गया है। ग्लोबल टाइम्स में छपे एक लेख के मुताबिक, चीन में योग क्लब तेजी से बढ़ रहे हैं। योग के अलावा हिंदी फिल्म इंडस्ट्री चीन में अपना परचम लहरा रही है। इन दो चीजों की वजह से भारत सॉफ्ट पावर को तेजी से बढ़ा रहा है, जिसपर चीन की नजर है। बॉलिवुड सुपरस्टार सलमान खान की फिल्म बजरंगी भाईजान पेइचिंग में अभी भी हाउसफुल चल रही है। इसके अलावा कई और बॉलिवुड फिल्में वहां पसंद की गई हैं।

सॉफ्ट पावर से बज रहा भारत का डंका
भारत की तारीफ में छपे इस लेख में आगे लिखा गया है, कई बॉलिवुड फिल्मों ने भारत को लेकर चीन और यहां के लोगों का अनुभव बदला है। बलात्कार, झुग्गी बस्ती और गंदे नालों की खबरों के चलते चीनी लोग भारत को एक गंदे और पिछड़े हुए राष्ट्र के रूप में देखते हैं। टेंशन और सीमा विवाद के बावजूद भारत सॉफ्ट पावर को व्यापर स्तर तक ले जाने में कामयाब रहा है। इसकी वजह है कि भारतीय अपनी संस्कृति पर गर्व करते हैं और उसे बचाने के लिए हर संभव कोशिश करते हैं। इससे पहले चीन भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुरीद हो चुका है। चीनी के सरकारी मीडिया में पिछले साल छपे एक लेख में मोदी को बीजेपी का स्टार चेहरा और मास्टरस्ट्रोक बताया गया था।

Loading...

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •