शिक्षा से बड़ा कोई दान नहीं: आशा

राजकीय प्राथमिक विद्यालय रौठिया भरदार के नव निर्मित भवन का उदघाटन,अभिभावक भी अपने बच्चों के प्रति रहे गंभीर

रुद्रप्रयाग। अभिभावकों को अपने बच्चों के प्रति एक जिम्मेदार अभिभावक की भूमिका निभानी चाहिये और बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान देना चाहिये। आज के बच्चे और कल का भविष्य आगे बढ़े तो समाज और क्षेत्र का नाम रोशन होगा। जिस परिवार में बच्चे शिक्षित हैं, उस परिवार की आर्थिक स्थिति भी मजबूत है। जिस परिवार में शिक्षा का अभाव है, वह परिवार आज भी कमजोर है। शिक्षा से बड़ा कोई दान नहीं है और अभिभावकों एवं शिक्षकों को बच्चांे के भविष्य के प्रति गंभीर रहना चाहिये और दोनों के तालमेल से ही शिक्षा में सुधार हो पायेगा।

 

ग्राम पंचायत रौठिया भरदार में नव निर्मित राजकीय प्राथमिक विद्यालय के उदघाटन में बतौर मुख्य अतिथि जिला पंचायत सदस्य आशा डिमरी ने जनसमूह को संबोधित करते हुये अभिभावकों से कहा कि बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें और जिस परिवार में बेटा या बेटी शिक्षित होकर आगे बढ़े हैं, वह परिवार हमेशा खुशहाल रहा है।

 

श्रीमती डिमरी ने कहा कि राजकीय प्राथमिक विद्यालय रौठिया भरदार का भवन जीर्ण-शीर्ण होने से छात्रों को काफी दिक्कतें आ रही थी और भवन निर्माण से बच्चों के बैठने की उचित व्यवस्था हो गई है। उन्होंने कहा कि विद्यालय भवन निर्माण की गुणवत्ता बहुत सुंदर है। ऐसे ही भवनों का निर्माण सभी जगह हो तो बच्चों को अच्छी शिक्षा मिल सकती है। श्रीमती डिमरी ने कहा कि विद्यालय में पेयजल की समस्या को देखते हुये इसके समाधान के प्रयास किये जाएंगे।

 

जिला पंचायत सदस्य आशा डिमरी ने कहा कि रौठिया में सबसे बड़ी समस्या पेयजल की है और भरदार पेयजल योजना निर्माण के लिये 12 करोड़ 40 लाख रूपये स्वीकृत हो चुके हैं। जनता को अगली गर्मियों में पानी की समस्या से निजात मिल जायेगी और घेंघड-रौठिया-जवाडी पीएमजीएसवाई मोटरमार्ग निर्माण से क्षतिग्रस्त रौठिया-जवाड़ी पेयजल योजना एवं पैदल संपर्क मार्ग व मोटरमार्ग निर्माण से प्रभावित काश्तकारों को दबान का मुआवजा दिलाने का प्रयास किया जायेगा।

 

उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिये जनता का सहयोग भी जरूरी है और जनता को भी अपनी समस्याओं के समाधान के लिये जागरूक रहने की आवश्यकता है। श्रीमती डिमरी ने राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय एवं राजकीय प्राथमिक विद्यालय के अध्यापकों को भी विद्यालय में छात्रों के प्रति जिम्मेदार अभिभावक की भूमिका निभाने पर बधाई दी और कहा कि अध्यापकों के प्रयास से छात्र-छात्राओं के शैक्षणिक माहौल में सुधार हुआ है।

 

कार्यक्रम से पूर्व मुख्य अतिथि श्रीमती आशा डिमरी ने नव निर्मित विद्यालय भवन का उदघाटन करने के बाद दीप प्रज्जवलित किया और स्थानीय जनता एवं विद्यालय परिवार ने मुख्य अतिथि का जोरदार स्वागत किया। राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय एवं राजकीय प्राथमिक विद्यालय के छात्रों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये।

 

इस अवसर पर क्षेपंस सुशीला देवी सिंधवाल, राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका लक्ष्मी भटट, राजकीय प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका रजनी नेगी, सीआरसी जगमोहन बुटोला, जिला समन्वयक नरेन्द्र चौहान, सहायक अभियंता अजय शर्मा, शिशपाल टम्टा, रेखा चमोली, शिक्षक समिति के अध्यक्ष राकेश रावत, प्रीतम पंवार, देव सिंह पंवार, पूर्व प्रधान देव सिंह सिंधवाल, बलवीर सिंह सिंधवाल, पूर्व सैनिक राजपाल सिंह सिंधवाल, गोविंद सिंह सिंधवाल, कलम सिंह सिंधवाल, नरेन्द्र सिंह सिंधवाल, वीरेन्द्र सिंह सिंधवाल, सुंदर सिंह, प्रताप सिंह, जीत सिंह, विजय सिंह सहित कई उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन सहायक अध्यापक मनीष बुटोला ने किया।