... ...
... ...

सरकारी कर्मी ने की पर्यावरण के क्षेत्र में मिसाल कायम

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रकृति और पर्यावरण के लिए वर्षों से कर रहे हैं कार्य ,बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति में हैं कार्यरत, मंदिर समिति करेगी बुटोला को सम्मानित

रुद्रप्रयाग। बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के यात्री विश्राम गृह में केयर टेकर के पद पर तैनात मेहरबान सिंह बुटोला अपनी सेवा के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण को लेकर भी कार्य कर रहे हैं। पिछले कई वर्षों से वे पर्यावरण को लेकर चिंतित हैं और लोगों को जागरूक करने का प्रयास कर रहे हैं। उनकी पर्यावरण के प्रति कर्तव्यनिष्ठता को देखते हुए मंदिर समिति ने उन्हें सम्मानित करने का निर्णय लिया है।

 

विकाखण्ड जखोली के ग्राम बस्टा निवासी मेहरबान सिंह बुटोला वर्ष 1982 से सरकारी सेवा के साथ ही पर्यावरण संरक्षण को समर्पित हैं। विश्राम गृह की निष्प्रयोज्य सामग्री टूटी बाल्टियां, टब, मग, टंकियों में मिट्टी भरकर पचास से अधिक औषधीय पौधे तैयार कर अभी तक सैकड़ों लोगों को निःशुल्क वितरित कर पर्यावरण संरक्षण की अलख जगा चुके हैं।

 

श्री बुटोला ने खराब हुई जैविक सामग्री से खाद तैयार की है तो राम बांस, निष्प्रयोज्य पॉलीथीन से रस्सियां, टोकरियां, कूड़ेदान, पर्स, चटाईयां, पायदान बनाये हैं। उनके लगाये जड़ी-बूटियों की लहलहाती पौध से मंदिर समिति विश्राम गृह की शोभा कई गुना बढ़ गयी है। यहां की हवा तरोताजा रहती है। श्री बदरीनाथ एवं केदारनाथ जाने वाले आगंतुक यात्री मंदिर समिति विश्राम गृह में रुककर पर्यावरण प्रेमी बुटोला की नर्सरी का दीदार कर रहे हें और उनसे सीख ले रहे हैं।

 

श्री बुटोला का कहना है कि जड़ी-बूटी उपजा कर एवं हस्त शिल्प से आज का युवा रोजगारपरक शिक्षा से आत्मनिर्भर हो सकता है। कई स्कूलों, कॉलेजों में उन्होंने जागरुकता अभियान चलाया है। बताया कि ऐलोबिरा, गिलोय, एलकोरिया, बच, सलपाड़ी, मालकंद, दूब, लोंग, नागरमोथा, पिपरमेंट, गन्ना, अन्नानास, बबूलथुनेर, हल्दी, हच, गुलाब, केला, राम बांस सहित कई औषधीय पौधे अपने संशाधनों से उगाये है। उनके इस पुनीत कार्य में विश्राम गृह प्रबंधक किशन त्रिवेदी भी सहयोग करते हैं।

 

श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष गणेश गोदियाल, मुख्य कार्याधिकारी बी.डी. सिंह ने बुटोला के कार्यो की सराहना की। मुख्य कार्याधिकारी श्री सिंह ने कहा कि पर्यावरण के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य पर मंदिर समिति की ओर से श्री बुटोला को सम्मानित किया जायेगा। मंदिर समिति सदस्य दिवाकर चमोली ने नर्सरी का अवलोकन किया और कार्यो की सराहना की।

Loading...