udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news Raj-Rag with CM हरीश रावत धमाका.! » Hindi News, Latest Hindi news, Online hindi news, Hindi Paper, Jagran News, Uttarakhand online,Hindi News Paper, Live Hindi News in Hindi, न्यूज़ इन हिन्दी हिंदी खबर, Latest News in Hindi, हिंदी समाचार, ताजा खबर, न्यूज़ इन हिन्दी, News Portal, Hindi Samachar,उत्तराखंड ताजा समाचार, देहरादून ताजा खबर

Raj-Rag with CM हरीश रावत धमाका.!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 : तो सितंबर में करेंगे हरीश रावत धमाका.! गैरसैण के बहाने तय होगी आगे की सियासत..!

We-Own-The-Sky


प्रदेश के सियासी हालातों के बीच तो  कयासबाजी होना आम बात होती हैं,  फिर वह विश्वसनीय हैं या नहीं मगर विश्वास तो करना ही पड़ता है । मगर यूथ आइकॉन की यह रिपोर्ट  Exclusive शिगूफ़े को मात करेगी क्योंकि हमने खबरिया हैसियत के साथ–साथ सियासत के मिजाज को कसौटी पर परखा है । अगर सच माना जाय तो साल का नवां महिना नई सियासत को जन्म देगा । हम कई कड़ियों को जोड़कर इस रपट में बताना चाहेंगे कि राजमहल के गृभग्रह में पक रही खिचड़ी की खूशबू हमने सूंग ली है ।यूथ आइकॉन ने हाल ही में एक संक्षिप्त कार्यक्रम द्वारा अपने मीडिया प्रतिष्ठान का विधिवत शुभारंभ किया था जिसमे मुख्यमंत्री हरीश रावत ने समय निकाल कर यूथ आइकॉन Yi न्यूज वेब पोर्टल कार्यालय का उदघाटन किया तो इसी दरमियान चाय पानी के वक़्त मैंने मुख्यमंत्री के साथ सियासी हालात पर उनके मन को पढ़ने की कोशिस की, और कुछ खास बातचीत भी की, तब मुख्यमंत्री हरीश रावत ने स्पष्ट किया कि उत्तराखंड में विधानसभा चुनावों के लिए जो कयासबाजी लगाई जा रही है वह बे-फिजूल है । मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि सितंबर माह के दूसरे या तीसरे सप्ताह में विधानसभा सत्र गैरसैण में आयोजित होना तय है । और जब सितंबर में हमारा विधानसभा सत्र होना है तो फिर कयासबाजी लगाने वाले लगाते रहें ।जब मैंने मुख्यमंत्री से सवाल किया कि,  क्या 2017 की सियासत गैरसैण के रास्ते ही सूबे में उतरेगी ? क्योंकि पर्वतीय क्षेत्रों में लोग अब हताश-निराश हो रहे हैं, जिसके एवज में तेजी से पलायन भी हो रहा है, क्या पहाड़ों के ठोस विकास व रोजगार या फिर गैरसैण में राजधानी को लेकर कुछ खास घोषणा होगी ? क्योंकि तब चुनावी माहौल भी गरमा जाएगा !इस सवाल पर सीएम ने कहा कि देखिए ऐसा नहीं है, हताश-निराश तो लोग बिल्कुल भी नहीं हैं इस प्रदेश कि जनता बेहद समझदार है वह जानती है पहाड़ के विकास के लिए हमारी सरकार पूरी तरह वचनबद्ध है, हम चरणबद्ध तरीके से सुनियोजित विकास कर रहे हैं और आने वाले 5 से 7 सालों के भीतर उसके परिणाम भी हम सबके सामने होंगे । जब पौधा लगाया जाता है तो उसे पहले सींचना पड़ता है और फिर कुछ इंतजार के बाद ही अच्छा फल भी मिलता है ।मेरा अगला सवाल था कि,  राजधानी को लेकर सरकार का क्या रुख है, विपक्ष भी आपको इस मुद्दे पर घेरता है कि राजधानी मसले पर सीएम अपना रुख स्पष्ट करें ?इस सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा रुख तो स्पष्ट है, कांग्रेस सरकार ने ही गैरसैण में विधानसभा सत्र शुरू किया था और उसके बाद आज वहां विधानभवन, सचिवालय व विधायक निवास सब बनकर धीरे-धीरे तैयार भी हो रहा है । यह सवाल आप उन लोगों से पूछिएगा जो दो बार इस राज्य में राज कर चुके हैं आखिर उन्होने गैरसैण को लेकर अब तक क्या किया है, आप लोग सवाल भी हमसे से ही करते हैं अरे भाई कभी उनसे भी तो पूछ लीजिए आखिर उन्होने किया क्या है गैरसैण या आगे उनकी मंशा है क्या ? अगर आपको कुछ बता दें तो मुझे भी बता दीजिएगा । बाकी कांग्रेस सरकार अपनी मंशा शब्दो से नहीं बल्कि जमीन पर काम करके दिखा रही है ।तो क्या सितंबर में कुछ बड़ी घोषणा होने का इंतजार हम लोगों को करना चाहिए ?भाई, आप स्वतंत्र हैं इंतजार करें या कुछ लिखेँ लेकिन सितंबर में विधानसभा सत्र होना है इसे आप मेरा Exclusive बयान बताकर अपने यूथ आइकॉन  न्यूज पोर्टल में लगा सकते हैं ।मेरा अंतिम सवाल शक्तिमान घोड़े को लेकर भी खूब सियासत हो रही है पहले उसके बुत को चौराहे पर लगाया गया, फिर रातों रात हटाया गया इसके पीछे क्या कारण हैं ?मेरे अंतिम सवाल का जवाब देते हुए सीएम रावत आश्वस्त थे कि अगली सरकार उनही कि बन रही है , सीएम ने कहा कि शक्तिमान एक समझदार जानवर था जिसे मानवीय क्रूरता का शिकार होना पड़ा इस बात को कोई नकार नहीं सकता है, 2017 में नई सरकार के गठन के बाद शक्तिमान की मूर्ति का भव्य अनावरण करेंगे ।  मै नहीं चाहता हूँ कि फिलहाल विधानसभा चुनावों में उस बेजुबान जानवर के नाम पर फिजूल की राजनीति कोई करे ।मुख्यमंत्री और मेरे बीच हुए इस संक्षिप्त संवाद की इन्ही सब कड़ियों को जोड़कर मेरा विश्लेषण है कि है कि सितंबर का महिना प्रदेश की राजनीति में कुछ नया कारनामा करेगा । मगर इसे न बागी करेंगे न विपक्ष इसे खुद सीएम अंजाम देंगे सियासी चालों को समझने में माहिर सीएम रावत इस बार केंद्र सरकार को राज्य के चुनाव से पहले अपनी गोटियाँ नहीं बैठाने देंगे । यह भी तय है ।

*प्रस्तुति : शशि भूषण मैठाणी ‘पारस’ , एडिटर Yi मीडिया । संपर्क – 9756838527, 7060214681

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.