udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news राज्यसभा सीट के लिए अनिल बलूनी ने किया नामांकन

राज्यसभा सीट के लिए अनिल बलूनी ने किया नामांकन

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देहरादून। उत्तराखंड से राज्यसभा सीट के लिए भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी ने अपना नामांकन दाखिल किया। बलूनी ने चार सेटों में नामांकन दाखिल किया है। इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत भाजपा के कई नेता और विधायक मौजूद रहे।

राज्यसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार अनिल बलूनी नामांकन कराने विधानसभा पहुंचे। बलूनी ने चार सेटों में नामांकन दाखिल किया है। सोमवार को राज्यसभा के लिए नामांकन के दौरान सभी कैबिनेट मंत्री व विधायक मौजूद रहे। राज्यसभा के चुनाव में इस बार भाजपा की राह में कोई अड़चन नहीं है।

एक विधायक के निधन के बावजूद सदन में भाजपा के 56 विधायक हैं। अनिल बलूनी पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व का आभार जताया। उन्होंने कहा कि केंद्र की बीजेपी टीम में उत्तराखंड का विशेष स्थान है। उत्तराखंड के लिए बहुत काम कि जाएंगे। दिल्ली में रहकर उत्तराखंड के दुख दर्दों को दूर करने का काम किया जाएगा।

इस मौके पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने अनिल बलूनी के उम्मीदवार बनने पर खुशी जताई। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से ही उम्मीदवार के चुने जाने से राज्य के विकास में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि पार्टी ने इस बार राज्यसभा उमीदवारों में युवाओं पर अपना भरोसा दिखाया है। इससे दिल्ली में उत्तराखंड की मजबूत पैरवी भी होगी।

राज्यसभा के कांग्रेस सदस्य महेंद्र माहरा का कार्यकाल 2 अप्रैल को खत्म हो रहा है। इस सीट पर 23 मार्च को मतदान होगा। नामांकन दाखिल करने वाले भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी पौड़ी जिले के कंडवालस्यंू पट्टी के नकोट गांव निवासी हैं। वे भाजयुमो के प्रदेश महामंत्री, निशंक सरकार में वन्यजीव बोर्ड के उपाध्यक्ष, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और फिर राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख बने। अनिल बलूनी युवावस्था से राजनीति में सक्रिय रहे।

पढ़ाई के साथ ही पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने के बाद मात्र 26 साल की उम्र में सक्रिय राजनीति में उतर आए। राज्य के पहले विधानसभा चुनाव 2002 में कोटद्वार सीट से पर्चा भरा था, लेकिन उनका नामांकन पत्र निरस्त हो गया। इसके खिलाफ वे कोर्ट गए और सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर वर्ष 2004 में कोटद्वार से उप चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए थे।

Loading...

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •