... ...
... ...

विचित्र बीमारी के चलते महिला के शरीर से निकल रहीं नुकीली चीजें

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

धनौरी । क्षेत्र के हरिपुरा गांव की एक महिला के साथ करीब एक दशक से अजीब घटना घट रही है। वह विचित्र बीमारी से पीड़त है। उसके शरीर से नुकीली चीज निकल रही है। घटना से परिवार के सभी लोग परेशान भी हैं और हैरान भी। उसे शरीर में चुभन सी महसूस होती है और फिर नुकली कील सी निकल आती है। उस जगह पर घाव भी हो जाता है। डॉक्टर भी नहीं जा पाए हैं किे वह कौन सी बीमारी से पीडि़त है।

 

गांव हरिपुरा निवासी ऊषा देवी अपने शरीर पर होने वाले इन घावों और उससे होने वाली असहनीय पीड़ा से परेशान हो चुकी है। वह अपनी बीमारी के इलाज के लिए डाक्टरों के पास जाती है और व उसे दवा देकर भेज देते हैं। अभी तक डॉक्टर बीमारी का इलाज करना तो दूर, कारण भी तलाश नहीं कर पाए हैं। ऊषा देवी का कहना है कि उनके दो स्वस्थ बच्चे भी हैं और विवाह के बाद उसके जीवन में सब कुछ ठीक चल रहा था, लेकिन करीब 10 साल पहले अचानक उसको शरीर में चुभन महसूस हुई। उसने देखा कि जहां-जहां चुभन महसूस हुई वहां उनके शरीर पर घाव बन गए थे। धीरे-धीरे ऐसा रोजाना होने लगा।

 

शुरूआत में लगा कि यह कोई बीमारी है, जिसका इलाज करवा लेंगे। अब वह डॉक्टरों के चक्कर काट-काट थक चुके हैं। एक्स-रे में उसके शरीर के अंदर नुकीली चीजें साफ दिखाई दे रही हैं। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार पर ऊषा की  यह बीमारी दोहरी मार है। वह नहीं चाहती कि इस प्रकार की समस्याओं को लेकर कोई अंधविश्वास की गलियों में भटके। इसलिए वह डॉक्टरों से इलाज करवाने जा रही है, हालांकि कई लोगों ने उसे इस बारे में कई सलाहें दीं। पीडि़त महिला के पति राकेश कुमार ने बताया कि पहले तो उन्होंने इसे भ्रम माना। जब प्रत्यक्ष रूप से घाव सामने आए तो परिवार के लो सहम गए। अब पत्नी के घाव उनसे देखे नहीं जा रहे। कभी शरीर के इस भाग के मरहम पट्टी करवाते हैं, कभी उस भाग पर। एक जख्म भरता नहीं दूसरा उभर आता है।

 
इलाज में खर्च हो रही पूरी कमाई
पति सुबह से शाम तक मजदूरी कर जो कुछ कमाता है, वह महिला के इलाज में खर्च हो जाता है। आठ वर्षीय पुत्र कर्ण और बेटी खुशबू मां की इस दशा से काफी मायूस हैं। ऊषा के इलाज के के लिए परिवार के लोग कई डॉक्टरों और चिकित्सा पद्धतियों का सहारा ले चुके हैं, लेहकिन मायूसी ही हाथ लगी है।

 
बेहद विचित्र घटना : डॉ. मान
चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ.आरपी मान ने कहा कि शरीर से नुकीली वस्तुओं का निकलना निस्संदेह विचित्र घटना है। रोगी की पूरी चिकित्सीय जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। कैथल जिले के धनौरी क्षेत्र में एक महिला को विचित्र बीमारी है। उसके शरीर से नुकीली चीज निकल रही है। डॉक्टराके को भी उसकी बीमारी के बारे में पता नहीं चल पा रहा है।

 
 गोवा की जनता ने सबसे ज्यादा बार दबाया नोटा का बटन
नई दिल्ली। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं। इनमें से गोवा की जनता ने सबसे ज्यादा बार नोटा (किसी भी उम्मीदवार को नहीं) का बटन दबाया है। उत्तराखंड इस मामले में दूसरे नंबर पर रहा। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, गोवा में 1.2 फीसद मतदाताओं ने नोटा का इस्तेमाल किया। उत्तराखंड में एक प्रतिशत लोगों ने इसके पक्ष में मतदान किया। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में एक फीसद से भी कम (0.9) मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया। पंजाब और मणिपुर में यह आंकड़ा क्रमश: 0.7 एवं 0.5 प्रतिशत रहा। उत्तर प्रदेश में 48 सौ से ज्यादा उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे, जबकि गोवा में 250 से ज्यादा प्रत्याशी अपना भाग्य आजमाने उतरे थे।

 

वहीं, पंजाब में 11 सौ और उत्तराखंड में छह सौ से ज्यादा चुनावी समर में थे।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज राज्य विधानसभा चुनाव में अपनी समाजवादी पार्टी की पराजय के बाद देर शाम राज्यपाल राम नाईक को इस्तीफा सौंप दिया। राजभवन के प्रवक्ता ने बताया कि राज्यपाल ने अखिलेश का इस्तीफा स्वीकार करते हुए उन्हें अगली सरकार के औपचारिक गठन तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर काम करने को कहा है। चुनाव में पराजय के बाद अखिलेश ने प्रेस कांफ्रेंस की और वहां से निकलकर फौरन राजभवन पहुंचे। अखिलेश ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि वह पार्टी की हार की समीक्षा करेंगे। मालूम हो कि विधानसभा चुनाव में सपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है। वर्ष 2012 में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने वाली इस पार्टी को अब तक महज 45 सीटें ही हासिल हुई हैं, जबकि मात्र दो सीट पर उसकी बढ़त है।

Loading...