udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पहाड़ में अकूत खजाना फिर भी हम छोड़ रहे अपने गांव-देखे वीडियो

पहाड़ में अकूत खजाना फिर भी हम छोड़ रहे अपने गांव-देखे वीडियो

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

संतोष *सप्ताशू*
देहरादूनःपहाड़ में अकूत खजाना फिर भी हम छोड़ रहे अपने गांव. ‘देवताओं की भूमि’ के रूप में जाना जाने वाला उत्तराखंड अपने शांत वातावरण, मनमोहक दृश्यों और खूबसूरती के कारण पृथ्वी का स्वर्ग माना जाता है।इसके बाद भी हम अपने गांव छोड़ शहरों में भटक रहे हैं। आधुनिकता की चकाचौंध ने हमारी ऑखों में वो सपने सजो रखे है जो कभी पूरे नहीं हो सकते हैं। इसके बाद भी हम संभल नहीं आ रहे हैं। यहां एक वीडियो साभार दिया जा रहा है। इसके माध्यम से हम अपनी आजीविका और अपने पहाड़ के संरक्षण और स्वरोजगार की दिशा में पहल कर सकते हैं। इसके लिए आवश्यकता है तो सिर्फ मनन करने की और पहल करने की।

आज के समय में हम सभी सरकारों पर निर्भर रहने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं जबकि हकीकत यह है कि हमारे पूर्वजों ने स्वसंसाधनों से न सिर्फ अपना जीवन बल्कि आपनी आने वाली पीढि के लिए भी बहुत कुछ किया। उस दौर में सरकारे तो सिर्फ कागजों में होने के साथ-साथ आम जन की पहुंच से दूर थी। उस दौर में न बैंक थे और न लोन की सुविधा फिर भी उन्होंने जीवन में वह सब किया जो आज कंप्यूटर बता रहा है। पहाड़ में प्राकृतिक संसाधनों की भरमार है और इन संसाधनों का हम अगर सही तरीके से उपयोग करें तो बिना किसी पूजी के लगाए ही अपने लिए रोजगार के संसाधन पैदा कर सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि इस खूबसूरत राज्य के उत्तर में जहाँ तिब्बत है वहीँ इसके पूरब में नेपाल देश है। जबकि इसके दक्षिण में उत्तर प्रदेश और उत्तर पश्चिम में हिमाचल प्रदेश है। इस राज्य का मूल नाम उत्तरांचल था जिसे बदलकर जनवरी 2007 में उत्तराखंड कर दिया गया था। राज्य में कुल 13 जिलें हैं जिन्हें प्रमुख डिवीजनों, कुमाऊं और गढ़वाल के आधार पर बांटा गया है। जलवायु उत्तराखंड राज्य तीन प्रमुख मौसमों का अनुभव करता है जिनमें गर्मी, मॉनसून और सर्दी शामिल हैं।

यहाँ की जलवायु बहुत हद तक यहाँ की भौगोलिक परिस्थितियों पर भी निर्भर करती है। यहाँ जहाँ एक तरफ विशाल पहाड़ियां हैं वहीँ दूसरी तरफ छोटे प्लेन भी है । उत्तराखंड की यात्रा का सबसे अच्छा समय गर्मियों का मौसम है इस समय यहाँ का मौसम बहुत ही अच्छा रहता है। उत्तराखंड आने वाले पर्यटक अपनी यात्रा को सर्दियों में भी प्लान कर सकते हैं। हालांकि भीषण बर्फ़बारी के चलते कुछ स्थानों पर आने वाले पर्यटक नहीं जा सकते हैं फिर भी अगर आप चाहें तो इस मौसम में भी उत्तराखंड की यात्रा की जा सकती है।

आपको बाता दें कि प्रकृति ने हमे सब कुछ दिया है इसके बाद भी हम उसका दोहन करने में पीछे रहते है और खुद को बैरोजगार कहने और मानने के साथ खुद के पांव पर पलायन करके कुलहाड़ी मार रहे हैं। पहाड़ से पलायन रोकने और यहां स्वरोजगार के संसाधन कैसे उत्पन होने हम आपको बताएंगे। फिलहाल आप इस वीडियो को देखकर मनन करें और हमारी अगली कृति पर का इंतजार कीजिएगा। जहां हम विस्तार से बताएंगे कि कैसे स्वरोजगार उत्पन्न हो सकता है।

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •