udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news सत्ता में आये तो तीन दिन में करेंगें शराबबंदी की घोषणा

सत्ता में आये तो तीन दिन में करेंगें शराबबंदी की घोषणा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देहरादून। उत्तराखंड क्र ांति दल के केन्द्रीय सचिव मीडिया संजय क्षेत्री ने कहा है कि आगामी विधाानसभा चुनाव में योजनाबद्ध संगठित तरीके से चुनाव मैदान में उतरेगा। २०१७ विधानसभा चुनाव में उत्तराखंड क ्रांति दलपूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के लिए पूर्ण रुप से आशान्वित है। उनका दावा है कि सत्ता में आते ही मात्र तीन दिनों के अंदर प्रदेश में शराबबंदी की घोषणा की जाएगी।

उनका कहना है कि चुनाव जीतने के बाद कोई भी प्रत्याशी भाजपा व कांग्रेस में शामिल नहीं होगा इसके लिए उन्हें शपथ पत्र देना होगा। दल के केन्द्रीय कार्यालय में पत्रकारों से रूबरू होते हुए उनका कहना है कि कांग्रेस की पिछली सरकार का पूरा कार्यकाल अपना अस्तित्व बचाने में चला गया और वह विकास का कोई खाका जनता के सामने नहीं पेश कर पाई, वही भाजपा अपने विधाायकों तथा नेताओं के काले कारनामों में इस कदर उलझी रही की २०१७ चुनाव के लिए कोई चेहरा तक नहीं पेश कर पाई तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम पर ही चुनावी वैतरणी पार करना चाहती है। पिछले १६ वर्षों से देश की जनता का मिजाज जानने के बाद दल द्वारा मंथन किया गया कि कांग्रेस व भाजपा मिलकर बारी-बारी सत्ता की लूट मचाने वाले मिथक पर कार्य कर रहे हैं।

दोनों ही दल बारी बारी सत्ता ाप्त होने के ति आशान्वित रहते हैं राज्य की जनता को संतुष्ट करने वाला दृष्टिकोण दोनों ही राष्ट्रीय दलों के पास नहीं है। उनका कहना है कि इसी कारण दोनों ही राष्ट्रीय दलो में से कोई भी लगातार दो बार सत्ता पर काबिज नहीं हो पाया है दोनों ही राष्ट्रीय दल मात्र एक दूसरे की असफलता में ही अपनी सफलता खोजते रहे हैं।इस बार उत्तराखंड क्रांति दल इस मिथक को तोडऩे के लिए दृढ़ संकल्प है तथा राज्य के दोनों मंडलों में उत्तराखंड क्रांति दल अब तक का सबसे बेहतरीन दर्शन करने को लालायित है। दल महसूस कर रहा है कि राज्य की जनता कांग्रेस के कुशासन से त्र्स्त है तथा विकल्प के रुप में यूकेडी को देखना चाहती है ऐसे में कांग्रेस और भाजपा के मध्य सत्ता हस्तांतरण की स्थिति को रोकने के लिए दल के नेताओं से चुनावी जनसभाओं में भाजपा पर खासा आक्रामक रहने तथा भाजपा को वॉक ओवर ना देने को कहा गया है ।

इस के लिए दल नोट बंदी के दूरगामी दुष्भावों ,राज्य में राष्ट्रपति शासन का दंश तथा भाजपा विधायकों के करोड़ों रुपए का सोना खरीद व शक्तिमान घोडा कांड को जनता के दरवाजे तक ले जाएगा। उनका कहना है कि पिछले एक वर्ष में दल उत्तराखंड बचाओ उत्तराखंड बसाओ यात्रा, जन संवाद यात्रा, जनसमर्थन यात्रा सहित कई कार्यक्रमों के जरिए जनता में अच्छी खासी पैठ बना चुका है तथा जनता को यह समझाने में सल रहा है कि पिछले १६ वर्षों में दोनों ही राष्ट्रीय दल नेताओं, अधिकारियों तथा माफियाओं के गठजोड़ की सरकारें चला रहे हैं। जिससे देशवासियों का जीवन स्तर निम्न स्तर पर पहुंच चुका है । देश में ति व्यक्ति कर्ज का ग्राफ बढ़ता जा रहा है तथा आम नागरिक महंगी शिक्षा,महंगी चिकित्सा तथा और अनियोजित विकास कार्यों से परेशान है । राज्य में २१ वर्ष से २३ वर्ष के १० लाख से ज्यादा पढ़े-लिखे नौजवानों की फौज खड़ी है किंतु दोनों ही पार्टियों की सरकारों ने पिछले १६ वर्षों में रोजगार और पलायन की दिशा में कोई काम नहीं किया है । उनका कहना है कि दल को उसका मूल चुनाव चिन्ह कुर्सी ाप्त होने से कार्यकर्ता, नेता गण तथा त्याशी उत्साहित हैं तथा राज्य में सबसे पहले त्याशियों की घोषणा कर के दल मनोवैज्ञानिक बढत की स्थिति में है।

दल भली भांति जानता है कि अंतिम १५ दिन कांग्रेस व भाजपा भ्रष्टाचारियों व माफियाओं के सहयोग से चुनाव को भावित करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे । इससे निपटने के लिए दल द्वारा योजना बनाई गई है राष्ट्रीय दलों द्वारा धान बल के बेतहाशा इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए त्येक विधानसभा क्षेत्र में कार्यकर्ताओं की एक एक पांच सदस्यीय टीम का गठन किया गया है जो चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले की वीडियोग्राफी करने के लिए तत्पर रहेगी। यह निश्चित किया जाएगा की राष्ट्रीय दलों द्वारा किसी भी दशा में आचार संहिता का उल्लंघन ना किया जाए। इस अवसर पर दल के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।
००

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •