निकाय चुनावों की सरगर्मियां हुई तेज

बाजार और गली-मौहल्ले पटे प्रत्याशियों के पोस्टर से ,अध्यक्ष को लेकर भाजपा में मच सकता है घमासान

वार्ड सभासद चुनाव भी होंगे रौचक,पालिका में नौ में से रह गये हैं मात्र सात वार्ड

रुद्रप्रयाग। रुद्रप्रयाग नगरपालिका में निकाय चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। खासकर भाजपा से टिकट के दावेदार जनता के बीच पहुंचकर अपना टिकट फाइनल बता रहे हैं। अकेले अभी तक भाजपा से आठ से दस दावेदार प्रमुख रूप से सामने आ रहे हैं। हालांकि कांग्रेस के दावेदार अभी तक खुलकर सामने नहीं आ रहे हैं, लेकिन भाजपा से टिकट के दावेदार खुलकर सामने आने लगे हैं और चुनाव के तहत बाजारों में जगह-जगह अपने पोस्टर भी चस्पा कर रहे हैं।
इस बार के निकाय चुनावों में नगरपालिका रुद्रप्रयाग में घमासान मचने वाला है। भले ही चुनाव में अभी कुछ माह का समय बाकी हो, लेकिन प्रत्याशियों ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। खासकर भाजपा में इस बार चुनाव मैदान में अनेक नये चेहरे देखे जा सकते हैं। जो कि चुनाव की तैयारियां कर रहे हैं। सोशल मीडिया से लेकर बाजार के हर गली-मौहल्ले में चुनाव की चर्चाएं तेज हैं। भाजपा प्रत्याशियों ने तो पूरे शहर को अपने पोस्टरों से पाट दिया है। स्थिति यहां तक पहुंच चुकी है कि फेसबुक और व्हटस्पएप्प में भी प्रचार-प्रसार शुरू हो गया है।
भाजपा में इस बार के निकाय चुनाव में घमासान देखने को मिल सकता है। भाजपा में इस बार टिकट के लिये मारामारी मचने वाली है। भाजपा के कुछ प्रत्याशी तो जनता के बीच पहुंचकर अपना टिकट फाइनल बता रहे हैं। जबकि अभी टिकट फाइनल होने में काफी समय शेष है। जिन प्रत्याशियों ने बाजारों में पोस्टर लगाये हैं, जनता उसका राज भी नहीं समझ पा रही है।
अभी तक भाजपा से भाजपा जिलाध्यक्ष विजय कप्रवाण, महामंत्री अजय सेमवाल, डॉ अमित रतूड़ी, नगरपालिका अध्यक्ष राकेश नौटियाल, सुरेन्द्र रावत, दीपांशु भटट आदि ने अपनी दावेदारी जताई है। जबकि कांग्रेस पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती रेखा सेमवाल, देवेन्द्र झिंक्वाण, अशोक चौधरी, सभासद संतोष रावत आदि के नाम प्रमुखत सामने आ रहे हैं। जबकि सच्चिदानंद सेमवाल, कालिका खन्ना, सुशीला बिष्ट समेत अन्य भी अध्यक्ष पद की दावेदारी कर रहे हैं।
वहीं दूसरी ओर वार्ड सभासद के लिये भी तैयारियां तेज हो गई हैं। वार्ड सभासद के प्रत्याशी इन दिनों बाजार और अपने-अपने वार्डों में पोस्टर और कलेण्डर बांटने पर लगे हुये हैं। वार्ड सभासद का चुनाव  भी इस बार रौचक होने जा रहा है। क्योंकि पालिका क्षेत्र के अंतर्गत दो वार्ड कम हुये हैं। अब नौ वार्डों की जगह पर मात्र सात ही वार्ड रह गये हैं।