udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news मुख्य सचिव और गढ़वाल आयुक्त ने लिया केदारनाथ कार्यो का जायजा

मुख्य सचिव और गढ़वाल आयुक्त ने लिया केदारनाथ में कार्यो का जायजा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

समय पर कार्य पूर्ण न करने वाले ठेकेदार के खिलाफ होगी कार्यवाही: मुख्य सचिव

रुद्रप्रयाग। मुख्य सचिव उत्पल कुमार और गढ़वाल आयुक्त दिलीप जावलकार ने केदारनाथ धाम पहुंचकर वहां चल रहे पुनर्निर्माण कार्यांे के साथ ही प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट का जायजा लिया। मुख्य सचिव ने धाम मे निरीक्षण के दौरान एम-आई 26 हेलीपैड से सरस्वती पुल तक निर्माण किए जा रहे रास्ते को 10 अप्रैल से पूर्व पूर्ण करने के निर्देश दिए।

 

कहा कि समयान्तर्गत कार्य पूर्ण न करने पर संबंधित ठेकेदार के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। केदारनाथ मन्दिर का दृश्य बाधित न हो दसके लिए रास्ते के दोनों ओर लाइटनिंग, सुरक्षा दीवार निर्मित करने के निर्देश दिए। केदारनाथ मे 50 फीट रास्ते के पीछे स्थित मकानों को ध्वस्त कराने व उनकी पैमाइश करने के साथ ही क्षतिग्रस्त होने वाले मकान निवासियों के अन्यत्र ठहरने की व्यवस्था के लिए जगह चिन्हित करने के निर्देश उपजिलाधिकारी ऊखीमठ गोपाल सिंह को दिए।

धाम में एमआई-17 हेलीपैड के पीछे लगाई गई पत्थर काटने की मशीन को संचालित करने व निर्बाध गति से विद्युत आपूर्ति करने के निर्देश लोनिवि व विद्युत विभाग को दिए। सोनप्रयाग में प्रतिदिन कारीगरों द्वारा तराश कर तैयार किए जा रहे पत्थरों को धाम में समय से पहुंचाने के निर्देश लोनिवि को देते हुये मुख्य सचिव ने कहा कि निम द्वारा 10 हजार व अवशेष पत्थरों लोनिवि उपलब्ध करायेगा। शीघ्र ही पत्थर उपलब्ध होने चाहिये, जिससे कार्य चलता रहे।

मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने कहा कि शंकराचार्य समाधि का निर्माण कार्य, ध्वस्त मकानों का निर्माण व 3 मकानों में हल्की तोड-फोड की मरम्मत के कार्य की जिम्मेदारी जिंदल गु्रप की है, शीघ्र ही गु्रप कार्य शुरू करेगा। इस मौके पर जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, चीफ इंजीनियर लोनिवि ओम प्रकाश उप्रैती सहित अन्य मौजूद थे।

मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर आयोजित वीडियोकॉन्फ्रन्सिंग के दौरान जिलाधिकारी को चारधाम यात्रा शुरु होने से पूर्व बुनियादी सुविधाएं सड़क, विद्युत, पेयजल, शौचालय की व्यवस्था प्राथमिकता के आधार पर दुरूस्त करने के निर्देश दिए। कहा कि यात्रा मार्गों पर यात्रियों की सुरक्षा के लिये सभी व्यवस्थाएं तत्काल दुरुस्थ करें, वहीं चिन्हित संवेदनशील स्थानों पर पैरापिट व क्रॉस बेरियर, संकेतक इत्यादि प्राथमिकता के आधार पर लगवायें।

इसके साथ ही पूरा यात्रा रूट गडढा मुक्त करने के निर्देश दिए, जिससे यात्रियों को असुविधा न हो व समय से गन्तव्य तक पहुंच सके। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि आगामी यात्रा में यात्रियों को पूर्ण सुविधांए देने का प्रयास किया जा रहा है। यात्रा के दौरान किसी भी श्रद्वालु की मृत्यु होती तो उसके शव को जौलीग्रांट तक पहुंचाने के लिए निशुल्क वाहन की सुविधा होगी। साथ ही आपदा प्रभावितों के रोजगार के लिये दुकाने आवंटित की जाएगी।

मुख्य सचिव ने मुख्य चिकित्साधिकारी को यात्रा मार्गों पर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, उपकेन्द्रों में सभी आवश्यक दवायें तथा उपकरण व मानव संसाधन व ऐम्बुलेन्स, 108 सेवा आदि की पूर्ण तैयारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्माणदायी संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिये कि यात्रा मार्गों पर चिन्हित संवेदनशील स्थानों पर क्रॉस बेरियर के साथ ही साथ संकेतक व अन्य आवश्यक सुविधाओं को प्राथमिकता के आधार पर लगवाना सुनिश्चित करें।

वही परिवहन विभाग को भी सभी आवश्यक तैयारियों को प्रथमिकता के आधार पर करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने सभी एसडीएम को पालिथीन व एनक्रोचमेन्ट ड्राइव चलाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही संचार से जुडी ऐजेन्सियों को संचार सेवा दुरुस्थ करने, पूर्ति विभाग को खाद्य सामग्री की व्यवस्था तथा नगरपलिकाओं व स्थानीय निकायों के अधिशासी अधिकारियों को साफ-सफाई व शौचालय की व्यवस्था के भी निर्देश दिये, ताकि यात्रियों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक पीएन मीना, एडीएम जीसी गुणवन्त, उपजिलाधिकारी सदर देवानंद, जखोली देवमूर्ति यादव, सीएमओ डॉ सरोज नैथानी के अलावा अन्य मौजूद थे।

Loading...

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •