मनोहर पर्रिकर चौथी बार बने गोवा के मुख्यमंत्री

पणजी : मनोहर पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री पद का शपथ समारोह शुरू हो गया है. पर्रिकर के साथ 10 मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है. गोवा में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद नई सरकार के गठन को लेकर पणजी से दिल्ली तक सियासत गर्मा गई है. ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा. कांग्रेस ने मनोहर पर्रिकर के शपथ पर रोक लगाने की मांग की. मंगलवार को इस याचिकापर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 16 मार्च को गोवा में बहुमत परीक्षण कराने को कहा है. सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल से इससे पहले सभी प्रक्रिया पूरी करने को कहा. अदालत ने मनोहर पर्रिकर के शपथ पर रोक लगाने से इनकार कर दिया.

 

निर्दलीय विधायक रोहन खंवटे ने ली मंत्री पद की शपथ एमजीपी के मनोहर बाबू अजगांवकर ने ली शपथ.एमजीपी के सुदिन धवलकर ने मंत्री पद की शपथ ली.-जीएफपी के विजय सरदेसाई ने भी ली मंत्री पद की थपथ.पर्रिकर समेत 11 मंत्री लेंगे शपथ.शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद हैं.गोवा के चौथी बार सीएम बने पर्रिकर.मनोहर पर्रिकर का शपथ ग्रहण समारोह शुरू. जेटली ने कहा कि कांग्रेस न तो अपने विधायक दल के नेता का चुनाव किया और न ही राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा किया.

 

-गोवा में सरकार बनाने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि मुझे लगता है कि सुप्रीम कोर्ट ने सही आदेश दिया है. भाजपा को भरोसा है कि वह बहुमत हासिल कर लेगी. गोवा में मनोहर पर्रिकर को दो और निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिल गया है. चर्चिल अलेम्मो और प्रसाद गांवकर ने मनोहर पर्रिकर को समर्थन देने का ऐलान किया है. अब पर्रिकर को कुल 23 विधायकों का समर्थन हासिल हो गया है.इस बीच कांग्रेस सरकार गठन के लिए कोई भी कसर नहीं छोड़ रही.

 

कांग्रेस के 17 विधायक महासचिव दिग्विजय  सिंह के साथ बस से राजभवन पहुंचे. कांग्रेस मांग कर रही है कि सिंगल लार्जेस्ट पार्टी होने के कारण पहले उन्हें सरकार गठन का मौका मिले. हालांकि, 40 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत के लिए 21 विधायकों के समर्थन की जरूरत पड़ेगी. सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस को इसी बात के लिए फटकार लगी थी कि अगर आपके पास संख्याबल है तो आप राज्यपाल के पास क्यों नहीं गए?