udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news मंगल की वक्र दृष्टि उत्तराखंड की राजनीति पर भारी ! होगी उथल-पुथल!

मंगल की वक्र दृष्टि उत्तराखंड की राजनीति पर भारी ! होगी उथल-पुथल!

Spread the love
  • 32
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    32
    Shares

राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की है संभावना!मंत्रिमंडल में परिवर्तन संभव!

संतोष *सप्ताशु*
देहरादूनः मंगल की वक्र दृष्टि उत्तराखंड की राजनीति पर भारी ! होगी उथल-पुथल! इसकी शुरूआत हो भी गयी है। उत्तरा प्रकरण में उत्तराखंड में राजनीतिक तूफान आया जो थमने का नाम नहीं ले रहा। पहले उत्तराखंड और अब राष्टीय स्तर पर सीएम के गुस्से पर चर्चा और परिचर्चा होने लग गयी है। और यह आने वाले समय में उत्तराखंड में राजनीतिक भूचाल के संकेत दे रहा है। यह मैं नहीं कह रहा। ज्योतिष विदों की माने तो यह मंगल के वक्री होने के परिणाम है।

 

चलिए पहले आपको बताते है कि उत्तराखंड में ऐसा क्यो हो रहा है। आपको बता दें कि ज्योतिष के ज्ञाताओं का मााना है कि मंगल-केतु की युति और मंगल का राहु के साथ समसप्तक योग बनने से यह हुआ। यह प्रदेश में जलीय संकट और जन-धन की हानि का भी संकेत दे रहा है। 27 जन से मंगल के वक्री होने से मंगल वलवान हो गया। इसके दुष्परिणाम सामने आने लगे है। राज्य में उत्तरा प्रकरण की बात करें या फिर पौड़ी में वाहन दुघ्टना की बात। इससे सावित होता है कि मंगल वक्री हो गया है।

आपको बता दें कि अगर वाणी भूषण पंचांग की माने तो 2 मई से 27 अगस्त तक राज्य में जलीय आपदा, प्रकृतिक आपदा, ीाूकंप राजनैतिक व्यक्तियों को पद हानि, राज्य में वाहन दुर्घटनाए और जन धन की हानि के साथ राज्य में मंत्रिमंडल में फरबदल, मुख्य नेतृत्व पर अधीनस्थों के आरोप-प्रत्यारोप लगेंगे। पंचाग में लिखी बातों पर गौर करें तो यह सब राज्य में हाने लगा है। राज्य में हाल ही के उत्तरा प्रकरण से राज्य में तूफान आ गया और बात दिल्ली तक पहुंच गयी। वही पौड़ी में वाहन दुघटना से उत्तराखंड सहित देश सदमें में आ गया कि आखिर यह क्या हो रहा है राज्य में।

ज्योतिषीय विश्लेषण कहता है कि जुलाई माह में उत्तराखंड में राजनीतिक हलचल तेज होगी। यहीं नही नेतृत्व परिवर्तन के साथ-साथ राज्य में प्राकृतिक आपदाओं से राज्य हिल जाएगा। इसकी शुरूआत हो चुकी है। राज्य में राजनैतिक घटनाक्रम पर ज्योतिष विशेषज्ञ कहते हैं कि राज्य में वैसे इस माह नेतृत्व परिवर्तन के पूर्ण योग बन रहे है, लेकिन यह योग टल भी सकते है, लेकिन राजनैतिक अस्थिरता रहेगाी। इसके साथ ही राज्य में मंत्रिमंडल में परिवर्तन संभव है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण मंगल की वक्री दृष्टि है।

चित्र साभार बाणी भूषण पंचाग

  •  
    32
    Shares
  • 32
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •