मन की बात : न्यू इंडिया से पूरा करेंगे अंबेडकर का सपना !

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आकाशवाणी से रविवार की सुबह मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए किसानों से लेकर लोगों के स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दे पर अपनी बात रखी।

पीएम मोदी ने कई ऐसे लोगों का उल्लेख भी किया जिन्होंने समाज में अपना योगदान कुछ अलग काम करके दिया है। उन्होंने कहा कि उद्योगों का विकास शहरों में ही संभव होगा यही सोच थी जिसके कारण डॉ. बाबा साहब आम्बेडकर ने भारत के शहरीकरण, अर्बनाइजेशन पर भरोसा किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कानपुर के डॉक्टर से लेकर असम के रिक्शा चालक का जिक्र किया जिनके सरोकार से समाज को फायदा पहुंच रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि आज भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक ब्राइट स्पॉट के रूप में उभरा है और पूरे विश्व में सबसे ज्यादा एफडीआई भारत में आ रहा है।

पूरा विश्व भारत को निवेश इनोवेशन और विकास के लिए हब के रूप में देख रहा है। उन्होंने कहा कि आज देश में मेक इन इंडिया का अभियान सफलतापूर्वक चल रहा है तो डॉक्टर अंबेडकर जी ने इंडस्ट्रीयल सुपर पावर के रूप में भारत का जो एक सपना देखा था वह उनका ही विजन आज हमारे लिए प्रेरणा है।

2025 तक टीबी मुक्त का लक्ष्य
मन की बात में पीएम ने कहा कि देश को 2025 तक टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा है। टीबी से मुक्ति पाने के लिए हम सबको सामूहिक प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा 479 मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की सीटों की संख्या बढ़ाकर लगभग 68 हजार कर दी गई हैं। विभिन्न राज्यों में नए एम्स खोले जा रहे हैं। हर 3 जिलों के बीच एक नया मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा।

किसानो की आय बढ़ाने पर जोर
पीएम ने डॉ. राम मनोहर लोहिया ने तो हमारे किसानों के लिए बेहतर आय, बेहतर सिंचाई-सुविधाएँ और उन सब को सुनिश्चित करने के लिए और खाद्य एवं दूध उत्पादन को बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर जन-जागृति की बात कही थी। उन्होंने कहा कि आज पूरे विश्व में भारत की ओर देखने का नजरिया बदला है। आज जब, भारत का नाम बड़े सम्मान के साथ लिया जाता है तो इसके पीछे माँ-भारती के इन बेटे-बेटियों का पुरुषार्थ छुपा हुआ है।

स्वच्छता का दायरा दोगुना
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों की खुशहाली के लिए स्वास्थ्य और स्वच्छता के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि पिछले चार साल के दौरान स्वच्छता का दायरा दोगुना बढकर करीब 80 फीसदी तक पहुंच चुका है और देशवासियों का स्वास्थ्य बेहतर बनाने की दिशा में व्यापक स्तर पर काम किया जा रहा है।

मोदी ने आकाशवाणी से प्रसारित अपने रेडिया कार्यक्रम ‘मन की बात’ के 42वें संस्करण में कहा कि स्वच्छता के लिए चार साल देश ने स्वच्छता को लेकर एक बीड़ा उठाया था और उसके परिणाम आज सबके सामने हैं।

मोदी के मन की खास बातें
-पैदावार बढ़ाने के लिए आधुनिक कृषि तकनीक अपनाने तथा इस बारे में नई जानकारी लेेने के लिए किसान दूरदर्शन का किसान चौनल देखें।

-अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए खेती को आवश्यक हैं। महात्मा गांधी से लेकर लाल बहादुर शास्त्री, चौधरी चरण सिंह और चौधरी देवीलाल जैसे सभी लोगों ने कृषि और किसान को देश की अर्थव्यवस्था और आम जन-जीवन का अहम अंग माना था।

-अगले कुछ दिनों में कई त्योहार आने वाले हैं जिनमें भगवान महावीर जयंती, हनुमान जयंती, ईस्टर, वैसाखी शामिल हैं। आप सब को आने वाले सभी त्योहारों की ढ़ेरों शुभकामनाएं।

-डॉ आम्बेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल से 5 मई तक ‘ग्राम-स्वराज अभियान’ आयोजित किया जा रहा है । इसके तहत पूरे भारत में ग्राम-विकास, गरीब-कल्याण और सामाजिक-न्याय पर अलग-अलग कार्यक्रम होंगे। बाबा साहब ने संघवाद, संघीय-व्यवस्था के महत्व पर बात की और देश के उत्थान के लिए केंद्र और राज्यों के साथ मिलकर काम करने पर बल दिया।

-आज मुद्रा योजना, स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया इनीशिएटिव हमारे युवा इनोवेटर्स, युवा उद्यमी को जन्म दे रही है।

-उद्योगों का विकास शहरों में ही संभव होगा यही सोच थी जिसके कारण डॉ. बाबा साहब आम्बेडकर ने भारत के शहरीकरण पर भरोसा किया।

PropellerAds