udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news मद्महेश्वर मंदिर के कपाट विधि-विधान और पूजा अर्चना के साथ खुले

मद्महेश्वर मंदिर के कपाट विधि-विधान और पूजा अर्चना के साथ खुले

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रुद्रप्रयाग। द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर मंदिर के कपाट विधि-विधान और पूजा अर्चना के साथ सोमवार सुबह 11 बजकर 30 मिनट पर सिंह लग्न में खोल दिए गए हैं। वैदिक मंत्रोच्चार और पौराणिक रीति रिवाजों के मंदिर के पुजारी एवं स्थानीय हक-हकूकधारियों ने यह परंपरा निभाई। अब छह माह तक भगवान की पूजा अर्चना मद्महेश्वर में की जाएगी।

सोमवार सुबह 7 बजे भगवान की उत्सव डोली गौंडार से रवाना होकर मद्महेश्वर मंदिर पहुंची। भक्तों द्वारा भगवान के जयघोषों से सारी घाटी भक्तिमय हो गई। बताते चलें कि शनिवार को शीतकालीन गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मन्दिर उखीमठ से भगवान की चलविग्रह उत्सव डोली उच्च हिमालय क्षेत्र मद्महेश्वर धाम के लिए रवाना हुई थी।

प्रथम पड़ाव रांसी व द्वितीय पड़ाव गोंडार में रात्रि विश्राम करने के बाद डोली मद्महेश्वर मन्दिर परिसर में पहुंची। सोमवार को प्रात: साढ़े छह बजे गौंडार में पुजारी शिवशंकर लिंग द्वारा भगवान की पूजा अर्चना को गई जिसके बाद गौंडार के ग्रामीणों ने मांगलिक गीतों के साथ डोली को विदा किया। भगवान की डोली भोले के जयकारों के साथ धाम के लिए रवाना हुई।

डोली भीमसी, वनतोली, कूनचट्टी, नानू होते हुए सुबह साढ़े दस बजे देवदर्शनी पहुंची जहां पर मन्दिर समिति, प्रशासन व स्थानीय भक्तों ने फूल एवं अक्षतों से डोली का भव्य स्वागत किया। इसके बाद मन्दिर समिति द्वारा कपाट खोलने की तैयारी शुरू की गई। करीब एक घंटे तक देवदर्शनी में विश्राम करने के बाद डोली मन्दिर परिसर में पहुंची।

भगवान की डोली ने मन्दिर परिसर में स्थित पौराणिक बर्तनों का भी निरीक्षण किया। मन्दिर की एक परिक्रमा के बाद वैदिक मंत्रोच्चार, शंख ध्वनि व पौराणिक परम्परा के साथ मन्दिर के कपाट खोले गए। पुजारी शिवशंकर लिंग द्वारा भगवान को समाधि से जागृत किया व महाभिषेक पूजन शुरू किया गया। भगवान की भोगमूर्ति को गर्भगृह में विराजमान किया गया।

मन्दिर में अभ्युदय जमलोकी द्वारा हवन की परंपरा को सम्पन्न किया गया। साथ ही विशेष पूजा अर्चना शुरू की गई। भक्तों ने भी भगवान का जलाभिषेक किया। इस अवसर पर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मन्दिर में दर्शन किए।

इस मौके पर डोली प्रभारी बच्चन सिंह रावत, मदन सिंह पंवार, अभ्युदय जमलोकी, मृत्युंजय हीरेमठ, दीपक नेगी, कैलाश पुष्पवान, शिव सिंह पंवार, शंकर स्वामी, सुनील सिध्द, वीर सिंह आदि थे।

Loading...

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •