लापरवाहीः डिलिवरी के दौरान पेट में छोड़ा तौलिया,डॉक्टरों पर केस 

नई दिल्ली । जामा मस्जिद के कस्तूरबा अस्पताल में डिलिवरी के दौरान एक महिला के पेट में तौलिया छोडऩे का हैरान करने वाला मामला उजागर हुआ है।

इस मामले में अस्पताल के चार डॉक्टर और एक टेक्निशियन के खिलाफ जामा मस्जिद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपियों में तीन महिला डॉक्टर हैं। पुलिस के अनुसार, बाजार सीताराम निवासी पूजा शर्मा की फरवरी 2018 में कस्तूरबा अस्पताल में डिलिवरी हुई थी।

बेटी के जन्म लेने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उस दौरान उन्हें दर्द और उल्टी की शिकायत थी। आरोप है कि कस्तूरबा के डॉक्टरों ने उनकी स्वास्थ्य संबंधी शिकायतों को गंभीरता से नहीं लिया। अगली 14 फरवरी को पेट दर्द के चलते फिर अस्पताल ले गए, लेकिन वहां से दवा देकर लौट दिया।

अगले दिन भी आराम नहीं पडऩे पर फिर अस्पताल गए तो एलएनजेपी अस्पताल में रेफर कर दिया। 16 फरवरी को एलएनजेपी की इमर्जेंसी में ले गए। एक्सरे और अल्ट्रासाउंड के बाद डॉक्टरों ने ऑपरेशन करके पेट से तौलिया बाहर निकाला, जिसकी वजह से आंत फटना, पेट में इंफेक्शन जैसी समस्याएं हो चुकी थीं।

महिला की हालत अब भी खराब बताई जा रही है। उनके परिजनों की शिकायत और मेडिकल रेकॉर्ड के आधार पर पुलिस ने डिलिवरी में शामिल महिला डॉक्टरों की टीम और टेक्निशियन के खिलाफ आईपीसी की धारा 337 के तहत केस दर्ज किया है। आरोपी डॉक्टरों के नाम रमन, शोभिका, प्रिया, एसएन अनुराधा और टेक्निशियन रवींद्र है।

इस बाबत अस्पताल की चिकित्सा अधीक्षक संगीता नांगिया का पक्ष लेने के लिए उनके मोबाइल नंबर संपर्क किया गया, लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव नहीं की।

PropellerAds