खुशखबरीः  आपका इंतजार कर रही हैं 1 करोड़ नौकरियां !

नई दिल्ली।खुशखबरीः  आपका इंतजार कर रही हैं 1 करोड़ नौकरियां ! बंरोजगारों के लिए यह राहत की ख्बार है और इससे देश में युवाओं को रोजगार मिलने के साथ-साथ देश में बेंरोजगारों की लंबी कतार भी खत्म होगी और ऐसा होने वाला है अगले पांच सालों में ऐसी एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है। तो इंतजार कीजिए रोजगार का।

 

आपको बता दें कि पिछले एक‍ साल में टेलिकॉम सेक्टर में मची उथल-पुथल के बीच राहत की खबर है। जहां पिछले दिनों सेक्टर में हजारों लोगों की नौकरियां गईं, अगले 5 साल में टेलिकॉम सेक्टर में 1 करोड़ नौकरियां मिल सकती हैं। ये बात टेलिकॉम सेक्टर स्किल काउंसिल (TSSC) की रिपोर्ट में कही गई है।

टेलिकॉम सेक्टर स्किल काउंसिल के सीईओ एसपी कोच्चर ने न्यूज एजेंसी को बताया कि अभी टेलिकॉम सेक्टर में करीब 40 लाख लोग नौकरी कर रहे हैं। वहीं, अगले 5 साल में यह संख्‍या बढ़कर 1.43 करोड़ हो जाएगी। यानी 5 साल में करीब 1 करोड़ नौकरियां और बढ़ जाएंगी। बता दें कि पिछले साल सेक्टर से करीब 40 हजार लोगों की नौकरी गई थी।

 

वहीं, अभी छंटनी का दौर अगले 6 महीनों तक जारी रहने का अनुमान है, जिसमें यह संख्‍या बढ़कर 80 से 90 हजार तक हो सकती है।
कोच्चर के अनुसार के अनुसार नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के तहत आने वाले दिनों में जॉब की डिमांड बढ़ेगी। खासतौर से इमर्जिंग टेक्नोलॉजी मसलन मशीन टु मशीन कम्युनिकेशंस, टेलिकॉम मैन्युफैक्चरिंग, इंफ्रा और सर्विसेज से डिमांड बढ़ेगी। आने वाले दिनों में देश में मैन्युफैक्चरिंग एक्टिविटी बढ़ने का अनुमान है, जिसका सबसे ज्यादा फायदा जिन सेक्टर को मिलेगा, उनमें टेलिकॉम सेक्टर भी शामिल है।

 

कोच्चर का कहना है कि मैन्युफैक्चरिगं की बात करें तो टेलिकॉम सेक्टर में पोटेंशियल बहुत ज्यादा है। हाल ही में सरकार ने सेक्टर के लिए राहत पैकेज को मंजूरी दी है, जिससे सेक्टर पर कुछ दबाव कम होगा, लेकिन इसमें अभी वक्त लगने का अनुमान है। जियो के आने के बाद से पिछले डेढ़ साल में फ्री डाटा और वॉइस कॉल को लेकर इंडस्ट्री में प्राइसिंग वार शुरू हो गया। कंपनियों ने डाटा स्पीड बेहतर रखने और वर्चुअल नेटवर्क प्लेटफॉर्म को मजबूत रखने पर काम करना शुरू कर दिया, जिससे उनका खर्च लगातार बढ़ा और साथ में कर्ज बढ़ने और मार्जिन घटने का दबाव भी।

 

जिससे इंडस्ट्री में जॉब संकट भी बढ़ गया और नए निवेश में कमी आई। नतीजा कंसोलिडेशन के रूप में सामने आया। कई कंपनियों का कारोबार घट गया। प्राइसिंग वार के चलते कंपनियों का मुनाफा घट गया है, जिससे इंडस्ट्री में हजारों नौकरियां जा चुकी हैं, वहीं आगे भी 80 से 90 हजार नौकरियों पर संकट है। CIEL HR सर्विसेज द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल टेलीकॉम इंउस्ट्री से जुड़े 40 हजार लोग बेरोजगार हो चुके हैं। वहीं, रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगले 5-6 महीने में बड़े पैमाने पर छंटनी हो सकती है। कुल 80-90 हजार लोग बेरोजगार हो सकते हैं। हालांकि इस बीच यह नई रिपोर्ट सेक्टर के लिए राहत की खबर है।

PropellerAds