खुलासा : 5 में से 4 शिक्षिकाओं का स्कूल में होता है यौन शोषण

लंदन। टीचिंग के स्तर को सुधारने के लिए काम करने वाली ब्रिटेन की एक संस्था ने हाल ही में एक पोल कराया, जिसमें खुलासा हुआ है कि वहां की महिला शिक्षकों में से करीब 81 फीसदी शिक्षक यौन शोषण का शिकार हुई हैं।

ब्रिटेन की यूनियन एनएएसयूडब्ल्यूटी ने 1200 से भी ज्यादा महिला शिक्षकों से सर्वे किया, जिसमें महिला शिक्षकों ने अपने साथ हुए यौन शोषण पर खुलासा किया और कहा कि जब से वे इस प्रफेशन में हैं, तभी से उन्होंने किसी ने किसी रूप में उत्पीडऩ सहा है।

हालांकि सिर्फ 5 फीसदी महिला शिक्षक ही ऐसी रहीं , जिन्होंने माना कि करियर की शुरुआत से उन्हें यौन शोषण नहीं झेलना पड़ा। इस सर्वे में और भी कई चौंकाने वाली बातें सामने आईं। सिर्फ शिक्षिकाएं ही नहीं, बल्कि कई वर्किंग पैरंट्स यहां तक कि सीनियर पदों पर काबिज लोगों ने भी वर्कप्लेस पर अपने साथ हुए शोषण को कबूला। इनमें से कई लोगों के पास तो आपत्तिजनक तस्वीरें भी थीं।

एनएएसयूडब्ल्यूटी के सर्वे के मुताबिक, आधी महिला शिक्षकों पर सेक्स संबंधी अनुचित कमेंट किए गए, जबकि कई शिक्षकों से सेक्स की डिमांड की गई। वहीं, इसी हफ्ते नैशनल एजुकेशन यूनियन के एक नेता ने बताया कि अब लड़कियां स्कूल स्कर्ट के नीचे शॉर्ट्स पहनने लगी हैं ताकि उनके क्लासमेट उनकी आपत्तिजनक तस्वीरें न ले सकें।

सिर्फ लड़कियां ही नहीं, महिला शिक्षक भी इससे अछूते नही हैं। एनएएसयूडब्ल्यूटी की बर्मिंगम में हुई सालाना कॉन्फ्ऱेंस में एक स्टडी सामने रखी गई, जिसमें बताया गया कि करीब 3 फीसदी महिला शिक्षक ऐसी हैं, जिनकी आपत्तिजनक तस्वीरें ली गईं और विडियो बनाए गए।

एक शिक्षिका ने खुलासा किया कि उसके डिपार्टमेंट के हेड ने ही उसका यौन शोषण किया और फिर उसने हर तरफ उल्टी-सीधी बातें फैला दीं। इसकी वजह से उस टीचर का तलाक भी हो गया। यौन शोषण की ये घटनाएं अभी भी थमने का नाम नहीं ले रही हैं, लेकिन दुख की बात है कि इन घटनाओं पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।

PropellerAds