... ...
... ...

केदारनाथ मंदिर के भीतर सीसीटीवी कैमरे, रहेगी पुलिस की नजर

Spread the love
  • 20
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    20
    Shares
रुद्रप्रयाग। 29 अप्रैल से भगवान केदारनाथ की यात्रा शुरू हो रही है। कपाट खोलने की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। बद्री-केदार मंदिर समिति के साथ ही प्रशासन भी यात्रा व्यवस्थाओं की तैयारियों में जुट गया है।
इस बार केदारनाथ मंदिर में एक नया फेरबदल होने वाला है। श्री बद्री-केदार मंदिर समिति और पुलिस प्रशासन मिलकर मंदिर के अंदर सीसीटीवी कैमरे लगाने जा रहा है। मंदिर के भीतर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाने से मंदिर के भीतर संचालित होने वाली संपूर्ण गतिविधियों पर अब पुलिस की पैनी नजर रहेगी।
अक्सर देखा गया है कि मंदिर के भीतर भी कभी-कभार भगदड़ मच जाती है। पहले दर्शन करने के चक्कर में यात्रियों के साथ धक्कामुकी हो जाती है। जगह-जगह से यात्रियों के साथ ही अन्य लोग मंदिर के अंदर घुस जाते हैं। कभी-कभार तो स्थिति यह रहती है कि मंदिर के अंदर पैर रखने की जगह नहीं होती है।
भगवान शिव के लिंग को भीड़ इस प्रकार घेर देती है कि कई यात्री दर्शन ही नहीं कर पाते हैं। कई यात्री दर्शन करने के बाद मंदिर से बाहर जाने का नाम ही नहीं लेते हैं, लेकिन अब ऐसा कुछ नहीं होगा। मंदिर के अंदर अलग-अलग हिस्सों में सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएंगे। इससे प्रत्येक कर्मचारी के साथ ही यात्री पर पैनी नजर रहेगी। उनकी हरेक गतिविधियों पर विशेष ध्यान रहेगा।
कोई भी मंदिर के अंदर अपनी मनमानी नहीं कर पायेगा। एक-एक करके तीर्थ यात्रियों को बाबा केदार के दर्शन होंगे। यात्रियों को कंट्रोल करने के लिये मंदिर के अंदर भी पुलिस के कर्मचारी तैनात रहेंगे। सीमित संख्या में यात्रियों के साथ ही स्थानीय लोग मंदिर के अंदर जा सकंेगे।
पुलिस अधीक्षक प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि पुलिस यात्रियों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं देने के लिये तत्पर है।
पुलिस ने इस बार एक नया निर्णय लिया है। मंदिर के अंदर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएंगे। इससे मंदिर के अंदर संचालित होने वाली प्रत्येक गतिविधियां रिकार्ड हो जाएंगी, जिनकी प्रत्येक दिन समीक्षा की जायेगी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मंदिर समिति के अधिकारियों से भी वार्ता हुई है और समिति के अधिकारियों ने भी सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिये हामी भरी है। मंदिर के कपाट खुलने के बाद मंदिर के भीतर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएंगे।
मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह ने बताया कि मंदिर में कुल आठ सीसीटीवी कैमरे लगाये जाने हैं। छह सीसीटीवी कैमरे मंदिर के भीतर और दो कैमरे दोनों दरवाजों पर लगाये जाएंगे। कैमरे लगने से सम्पूर्ण व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रहेंगी। मंदिर के भीतर किसी प्रकार की होड़ नहीं मचेगी। कर्मचारियों और यात्रियों में सामंज्सय बना रहेगा।
15 से 20 कुंतल फूलों से सजेगा केदारनाथ मंदिर
 इस बार केदारनाथ मंदिर को लगभग 15 कुंतल फूलों से सजाया जायेगा। मंदिर को सजाने में अनेक प्रकार के पुष्पों का प्रयोग किया जायेगा। 28 अप्रैल सांय तक बाबा केदार का मंदिर सज जायेगा। मंदिर को सजाने के लिये फूलों की डिमांड दे दी गई है। 28 अप्रैल सुबह तक ऋषिकेष के साथ ही अन्य स्थानों से फूल केदारनाथ पहुंच जाएंगे।
29 अप्रैल से शुरू हो रही भगवान केदारनाथ की यात्रा तैयारियां बद्री-केदार मंदिर समिति ने भी जोर-शोर से शुरू कर दी हैं। यात्रा तैयारियांे को लेकर समिति की एक एडवांस टीम पहले ही केदारनाथ जा चुकी है। इस बार मंदिर समिति बाबा केदार के मंदिर को भव्य तरीके से सजायेगी।
मंदिर को सजाने में 15 से 20 कुंतल तक फूलों का उपयोग किया जायेगा। खासकर मंदिर के आगे और पीछे वाले दरवाजे को भव्य तरीके से सजाया जायेगा। इन दिनों मंदिर समिति के कर्मचारी मंदिर में रंग-रौबन आदि का कार्य कर रहे हैं। मंदिर समिति इस बार नई व्यवस्था करने जा रही है।
केदारनाथ पहुंचने वाले तीर्थ यात्रियों को ठंड से बचाने के लिये समिति की ओर से यात्रियों को निशुल्क कंबल दिये जाएंगे। यात्री इन कंबलों का उपयोग करके वापस जाते समय समिति के कर्मचारियों को वापस करेंगे। मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह ने बताया कि मंदिर को सजाने का कार्य शुरू हो गया है।
कपाट खुलने के अवसर पर मंदिर तीर्थ यात्रियों को भव्य नजर आयेगा। मंदिर को 15 से 20 कुंतल तक फूलों से सजाया जायेगा। मंदिर को सजाने में अलग-अलग प्रकार के फूलों का उपयोग किया जायेगा। इसके अतिरिक्त मंदिर को लाइटों से भी सजाया जायेगा। उन्होंने कहा कि मंदिर समिति की एडवांस टीम केदारनाथ में व्यवस्थाएं जुटा रही है। 28 अप्रैल तक मंदिर फूल और लाइटों से सज जायेगा।
Loading...