केदारनाथ: कपाट खुलने से पहले यात्रा मार्ग करें पूरी तरह व्यवस्थित

रूद्रप्रयाग :    गढवाल आयुक्त दिलीप जावलकर ने आगामी चारधाम यात्रा को सुगम और सुरक्षित बनाने को लेकर रूद्रप्रयाग-गौरीकुण्ड राष्ट्रीय राजमार्ग का स्थलीय निरीक्षण किया।

उन्होंने कहा कि भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने से पहले 15 अप्रैल तक यात्रा मार्ग को आवाजाही के लिए पूरी तरह व्यवस्थित बनाया जाएगा, ताकि श्रद्वालुओं की किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पडे। उन्होंने यात्रा से जुडे सभी विभागों को निर्देशित किया कि वह हर हाल में यात्रा शुरू होने से पहले सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चत करे। तय तिथि तक यात्रा से जुडे विभागों को आवटित कार्य पूर्ण न करने पर संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।

गढवाल आयुक्त श्री जावलकर ने सोनप्रयाग में केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों के लिए तैयार किये जा रहे पत्थरों के निरीक्षण के दौरान लोनिवि विभाग को निर्देश दिए कि पत्थर मानकों के अनुरूप तैयार किए जाए। कहा कि यात्रा से पूर्व पत्थरों का कार्य पूर्ण होना चाहिए इसके लिए विभाग मशीनों की संख्या बढाए।

विभाग द्वारा बताया गया कि सोनप्रयाग, केदारनाथ व बडेथ में मशीन कार्य कर रही है। इस संबंध में ठेकेदार ने बताया कि विद्युत बाधित होने से कार्य में मुश्किलों का सामना करना पडता है इस संबंध में आयुक्त ने सोनप्रयाग मे जनरेटर की व्यवस्था करने के निर्देश दिए जिससे कार्य चलता रहे।

विद्युत विभाग को 15 अप्रैल से पूर्व केदारनाथ में विद्युत पोल स्थापित करने, जलसंस्थान को सुचारू रूप से पानी की व्यवस्था करने के साथ ही घोडे-खच्चरों के लिए गर्मपानी की व्यवस्था करने के निर्देश जलसंस्थान व उरेडा विभाग को दिए। गढवाल आयुक्त ने सोनप्रयाग की पार्किग को एक सप्ताह के भीतर समतल करने के निर्देश दिए।

कहा कि एनएच पर किए जा रहे साइड कटिंग और ओएफसी लाइन बिछाने का कार्य यात्रा शुरू होने से पहले पूरे कर दिया जाएंगे, ताकि यात्रा के दौरान कहीं भी टै्रफिक की कोई समस्या पैदा ना हो। कहा कि अभी एक माह का समय शेष है सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया कि जो भी कार्य होने है,

उन्हें जल्द से जल्द पूरा करें।इससे पूर्व कल गढवाल आयुक्त ने विजयनगर पैदल झूला पुल का भी निरीक्षण किया और उसकी गुणत्ता और कार्य पूर्ण होने की समय सीमा की जानकारी सम्बंधित विभागीय अधिकारियों से ली। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द पुल का निर्माण किया जाय, ताकि जनता को आवागमन में किसी भी प्रकार की दिक्कतो का सामना न करना पडे।

वहीं जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि चन्द्रापुरी से सोनप्रयाग तक कूडा उठाने के लिए चार कूडा वाहन संचालित किए जाएंगे। जो नियमित रूप से कूडा एकत्रित कर एक जगह पर रखेंगे और वहां जैविक ओर अजैविक कूडा अलग-अलग किया जाएगा। इसके लिए मशीन भी लगाई जाएगी।

इस मौके पर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ0 रमेश सिंह नितवाल, अधिशासी अभियंता जल संस्थान संजय सिंह, सहित सम्बंधित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

PropellerAds