केदारनाथ धाम में जमकर हुई बर्फबारी, पुनर्निर्माण कार्य प्रभावित

रुद्रप्रयाग। मौसम के अचानक करवट लेने से हिमालयी क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश हो रही है। मौसम में आये परिवर्तन से एक बार ठंड फिर लौट के आई है।
वहीं बर्फबारी और बारिश के बाद काश्तकारों ने भी राहत की सांस ली है। बारिश के बाद गेहूं की फसल को नई ऊर्जा मिली है। केदारनाथ धाम की बात करें तो केदारनाथ में सुबह से बर्फबारी जारी हो गई थी। जो कि शाम तक जारी थी। बर्फबारी से केदारनाथ धाम में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य भी रूक गये हैं।
पहाड़ों में एक बार फिर से मौसम में परिवर्तन आ गया है। हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी शुरू होने से ठंड लौट के आई है। केदारनाथ धाम में भी जमकर बर्फबारी हो रही है। बर्फबारी से केदारनाथ में ठंड भी बढ़ गई है। इसके साथ ही केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य भी रूक गये हैं। फरवरी के महीने में केदारनाथ में तीसरी बार बर्फबारी हुई है।
बर्फबारी के बाद पूरी केदारपुरी सफेद नजर आ रही है। चारों ओर बर्फ ही बर्फ दिखाई दे रही है। सुबह से केदारनाथ में बर्फबारी जारी हो गई थी। बर्फबारी से केदारनाथ में पैदल चलने वाले रास्ते भी बंद हो गये हैं। वहीं शिव पार्वती विवाह स्थल त्रियुगीनारायण, द्वितीय केदार मदमहेश्वर, तृतीय केदार तुंगनाथ, पर्यटक स्थल चोपता, बधाणीताल, दुगलविटटा आदि क्षेत्रों में भी बर्फबारी हुई है।
बर्फबारी और बारिश होने के बाद काश्तकारों ने भी राहत की सांस ली है। बारिश से गेहंू की फसल को जान मिली है। इसके साथ ही पहाड़ों में ठंड लौट के आई है। जगह-जगह लोग अलाव का सहारा लेते दिखाई दे रहे हैं। बर्फबारी के कारण केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य फिर से प्रभावित हो गये हैं।
केदारनाथ धाम में इन दिनों जोर से पुनर्निर्माण कार्य चल रहे हैं। यात्रा शुरू होने से पहले किसी भी हाल में कार्य पूरे होने हैं, लेकिन बर्फबारी के कारण कार्य करने में बाधा पहुंच रही है।
PropellerAds