udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news केदारनाथ: अतिथि देवो भवः की परम्परा निभा रहे पुलिस के जवान

केदारनाथ: अतिथि देवो भवः की परम्परा निभा रहे पुलिस के जवान

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यात्रियों एवं साधु संतों के लिए भंडारे का आयोजन ,सैकड़ों श्रद्धालुओं ने लिया भाग
रुद्रप्रयाग। केदारनाथ में ड्यूटी दे रही पुलिस टीम की ओर से श्रद्धालुओं के लिए भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें सैकड़ों भक्तों ने हिस्सा लिया। देश-विदेश से आये श्रद्धालुओं ने पुलिस के जवानों की प्रशंसा की और कहा कि यात्रा पर आये साधु-संतो को भंडारे से लाभ मिला है।

दरअसल, हर साल पुलिस की टीम केदारनाथ में भंडारे का आयोजन करती है, जिसमें देश-विदेश से यात्रा पर आये श्रद्धालु एवं स्थानीय साधु-संत बड़ी संख्या में शिरकत करते हैं। डार्जिलिंग से यात्रा पर आई विजया देवी ने कहा कि केदारनाथ में पुलिस का व्यवहारा यात्रियों के साथ काफी अच्छा है। अतिथि देवो भवः की परम्परा को अपनाया जा रहा है।

भंडारे का आयोजन कर गरीब तीर्थयात्रियों के साथ साधु-संतो की मदद की जा रही है। यह एक सराहनी पहल है। अंबाला की मीना ठाकुर, दिल्ली निवासी विजय शर्मा ने भी पुलिस के इस कार्य की जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि यात्रा पड़ावों में पुलिस की टीम बेहतर कार्य कर रही है। तीर्थयात्रियों की हरसंभव मदद की जा रही है।

खासतौर पर बीमार मरीजों का ख्याल रखा जा रहा हैं। पैदल पड़ावों में मरीजों की तबियत बिगड़ने पर पुलिस की टीम शीघ्र ही स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचा रहा है। उन्होंने कहा कि जो श्रद्धालु 18 किमी की खड़ी चढ़ाई चढ़कर पहुंचता है, उसके लिए भंडारा किसी अमृत से कम नहीं है। इसको खाकर सारी थकान मिल गयी है।

तीर्थ यात्रियों की सेवा में जुटे एसआई विपिन चन्द्र पाठक ने कहा कि भंडारे के आयोजन से आपसी भाई चारा बना रहता है। केदारनाथ में प्रशासन, मंदिर समिति, पीआरडी, आर्मी सहित अन्य विभागों के कर्मचारी सेवा में जुटे हैं। भंडारे में सभी शरीक होते हैं और आपसी तालमेल से कार्य करते हैं, जिससे उनकी थकान भी मिट जाती है।

पुलिस अधीक्षक प्रह्लाद नारायण मीणा ने कहा कि आपदा के बाद से केदारनाथ में जुटे सभी विभाग बेहतर कार्य कर रहे हैं। पुलिस का व्यवहार लोगों को ज्यादा प्रभावित कर रहा है। इस बार यात्रा में भी खासा इजाफा हुआ है।

अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार आठ लाख के करीब तीर्थयात्री बाबा केदार के दरबार पर मत्था टेक लेंगे। उन्होंने कहा कि यात्रा में इजाफा होने का फायदा स्थानीय व्यापारियों को मिला है और अगले साल और अधिक तीर्थयात्रियों के पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •