udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news जीएसटी (वस्तु एवं सेवाकर) को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

जीएसटी (वस्तु एवं सेवाकर) को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
पौड़ी:  जिला प्रशासन की पहल पर जीएसटी (वस्तु एवं सेवाकर) को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन विकास भवन सभागार में किया गया। कार्यशाला में मौजूद अधिकारियों, कर्मचारियों को जीएसटी की  विभिन्न जानकारी दी गई।
जिलाधिकारी सुशील कुमार की अध्यक्षता में आयोजित कार्यशाला में विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि जीएसटी को लेकर पारदर्शिता अपनाएं जाने आवश्यक है। इसके लिए समय-समय पर कार्यशालाओं के माध्यम से पृच्छयओं व संकाओं का समाधान प्रशिक्षकों द्वारा किया जाएगा।
उन्होंन अधिकारियों से कहा कि यह एक्ट लागू हो गया है। जिसे कार्यरूप देने के लिए सभी की जिम्मेदारियां बढ गई है व धीरे-धीरे इसके प्रयोग से सुविधा प्राप्त हो सकेगी। उन्होंने बताया कि वस्तु एवं सेवाकर का भारत में आगमन अप्रत्यक्ष कर सुधारों के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होने बताया कि जीएसटी के तहत विभिन्न विषयों यथा कर मुक्ति, थ्रेसहोल्ड, सेवाओं का करारोपण, अंतरप्रांतीय आपूर्ति पर करारोपण आदि रिर्पोट प्रस्तुत करने का कार्य आनलाइन रूप से संचालित किया जाएगा।
इस अवसर पर वाणिज्य कर विभाग श्रीनगर के डिप्टी कमिश्नर विजय कुमार ने आहरण वितरण अधिकारियों व  कर्मचारियों को जीएसटी के विभिन्न पहलुओं की विस्तार से जानकारी दी। इस मौके पर उन्होंने अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा उठाएं गए सवालों का भी जवाब दिया और उनकी शंकाओं को दूर किया ।
कार्यशाला में डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि देश में 1 जुलाई से जीएसटी लागू हो चुका है। बताया कि सभी विभागों को जीएसटी में रजिस्टेशन अनिवार्य रूप से करवाना होगा। उन्होंने कार्यशाला में मौजूद अधिकारियों व कर्मचारियों को टीडीएस भरने, रिटर्न फाइल करने आदि की विस्तार से जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि विभिन्न प्रकार के करों का मिश्रिण कर जीएसटी को एक कर के रूप में मनाया गया है। जिसके अंतर्गत राज्य वस्तु सेवाकर, केंद्रीय वस्तु सेवाकर तथा अंतर्राज्यीय वस्तु सेवाकर को शामिल किया गया है। उन्होने बताया कि एक्ट के लागू होने से विभिन्न वस्तुओं पर जीएसटी की दरें पूर्व में ही तय कर ली गई है। बताया गया कि टीडीएस फाइल करने के कार्य को दो माह के लिए स्थगित रखा गया है इसके लिए अभी दिशा-निर्देश प्राप्त नहीं हुए है।
दिशा-निर्देश प्राप्त होने पर वस्तु सेवाकर के तहत टीडीएस कार्यवाही आनलाइन की जा सकेगी। जिसमें भुगतान से लेकर प्राप्ति तक का हिसाब-किताब निर्धारित रहेगा। उन्होने बताया कि अब कोई भी विभाग गैर प्रंजीकृत फर्मो से कार्यालय वस्तुओं क्रय नहीं कर सकेगा; अब केवल पंृजीकृत फमों से ही साम्रगी क्रय करेगी तथा जीएसटी का आनलाइन भुगतान करेगी। उन्होने बताया कि जीएसटी मित्रों के माध्यम से जल्द ही प्रायोगिक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।  
इस मौके पर सीडीओ विजय कुमार जोगदंडे, सीटीओ लखेंद्र गोथियाल, जिला विकास अधिकारी वेदप्रकाश, परियोजना निदेशक एसएस शर्मा, जिलाशिाधिकारी माध्यमिक हरेराम यादव, बेसिक केएस रावत, उपमुख्य चिकित्साधिकारी डा एनके त्यागी समेत विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष एवं आहरण वितरण अधिकारियों के अलावा वाणिज्य कर विभाग से जुडे चार्टर एकांउटेंट एसएस कंडारी व अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे। 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •