... ...
... ...

काली मंदिर तिलवाड़ा से सूर्यप्रयाग तक निकली जल कलश यात्रा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रुद्रप्रयाग । प्रसिद्घ त्रिपुरेश्वर महादेव मंदिर सूर्यप्रयाग में भव्य जल कलश यात्रा के साथ आठ दिवसीय रामकथा का शुभारंभ करते हुये व्यास हरिशरण शास्त्री ने ज्ञानभक्ति एवं वैराग्य पर विस्तार से चर्चा करते हुये भगवान श्रीराम की महिमा का गुणगान किया। व्यास हरिशरण ने उपस्थित श्रोताओं को पौराणिक कथाओं का श्रवण करने के लिये प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि सूर्यप्रयाग त्रिपुरेश्वर महादेव मंदिर दिव्य स्थान पर है और इस स्थान की बहुत बड़ी महत्ता होने के साथ जो भी भक्त यहां पहुंचते हैं, उनकी मनोकामना पूर्ण होती है।
तिलवाड़ा स्थित काली मंदिर से जल कलश यात्रा निकालते हुये राम कथा स्थल सूर्यप्रयाग पहुंची, जहां सैकड़ों महिलाओं एवं पुरूषों ने कलश यात्रा में भाग लिया। सूर्यप्रयाग में आठ दिवसीय राम कथा का आयोजन होने पर स्थानीय जनता में अपार खुशी का माहौल बना हुआ है और सम्पूर्ण क्षेत्र भक्ति में डूबा हुआ है। इस अवसर पर राम कथा आयोजक समिति में जिला पंचायत सदस्य आशा डिमरी, प्रधान सुमाड़ी गणेशी देवी रावत, पूर्व प्रधान गीड़ भुतेर विक्रम सिंह कंडारी, वरिष्ठ पत्रकार लक्ष्मी प्रसाद डिमरी, पत्रकार देवेन्द्र प्रसाद गौड़, व्यापार संघ अध्यक्ष विक्रम सिंह सजवाण, मुकेश कंडारी, धर्म सिंह राणा, बादर सिंह रावत, क्षेपंस नरेन्द्र सिंह कंडारी, सेवानिवृत्त शिक्षक रामचन्द्र सेमवाल को रखा गया है। आयोजक समिति के सभी सदस्यों ने रामकथा के सफल संचालन के लिये स्थानीय जनता से सहयोग की अपील की और कहा कि धार्मिक कार्यों में सभी का सहयोग अनिवार्य है।

इस मौके पर कथा वाचक द्वारिका प्रसाद नौटियाल, आचार्य नागेन्द्र ध्यानी, संदीप भटट, उमेश जोशी, संगीताचार्य अंकित केमनी, मनोज पोखरियाल, सुमन ध्यानी, पूर्व पालिकाध्यक्ष श्रीमती रेखा सेमवाल, पूर्व प्रधान गीड़ भुतेर रेखा कंडारी, महिला मंगल दल अध्यक्ष बीना भटट, सूर्यप्रयाग की माई शंकर गिरी, पूर्व क्षेपंस दौलतराम गौड़, केशवानंद भटट, बच्चीराम गौड़, गोविंद प्रसाद ध्यानी, द्वारिका प्रसाद गौड़, पूर्णानंद भटट, सुनील पंवार सहित सैकड़ों महिलाएं एवं पुरूष उपस्थित थे।

Loading...