जब त्वचा के गहरे रंग के कारण प्रियंका चोपड़ा के हाथ से निकली थी फिल्म

ऐक्टर और ऐक्ट्रेस की फीस के बीच असमानता का मुद्दा पिछले कुछ वक्त से पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है। हाल ही में बॉलिवुड की सबसे बड़ी ऐक्ट्रेस में से एक और अब हॉलिवुड में अपनी अदाकारी का परचम लहरा रहीं प्रियंका चोपड़ा ने भी इस बारे में खुलकर बात की। इतना ही नहीं, बल्कि प्रियंका ने एक वाकया भी शेयर किया जब उन्हें उनकी त्वचा के गहरे रंग के कारण एक हॉलिवुड फिल्म से हाथ धोना पड़ा था।

 

दरअसल प्रियंका से पूछा गया था कि जब महिला या अन्य नस्ल के लोगों को समान काम के लिए समान भुगतान की बात आती है तो हॉलिवुड कैसा व्यवहार करता है? प्रियंका ने इसका जवाब दिया, मैं एक फिल्म के लिए बाहर गई थी। तब स्टूडियो (उस फिल्म से जुड़ा) से किसी ने कॉल करके मेरे एजेंट को बोला, उनकी फिजिकैलिटी (शारीरिक बनावट) सही नहीं है।

 

इसलिए एक ऐक्टर के तौर पर मैं सोचने लगी कि क्या मुझे गोरा होना होगा? क्या मुझे शेप में आना होगा? क्या मुझे ऐब्स बनाने पड़ेंगे? आखिर सही फिजिकैलिटी नहीं होने का मतलब क्या है? तब मेरे एजेंट ने मुझसे कहा, प्रियंका… उनका मतलब था कि उन्हें ऐसा कोई शख्स चाहिए जो जिसके चेहरे का रंग इतना गहरा न हो। इससे मुझे फर्क पड़ा।

 

प्रियंका ने यहां लैंगिक आधार पर फीस भुगतान में अंतर के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा, अमेरिका में हम लोग इसे लेकर सख्त तरीके से बात नहीं करते हैं, वहीं इंडिया में तो हम इस बारे में बात ही नहीं करते हैं। मुझे तो साफ तौर पर बताया गया था कि अगर फिल्म में बड़े ऐक्टर्स के साथ कोई महिला कलाकार काम कर रही है, तो उसकी कोई ज्यादा अहमियत नहीं है।

PropellerAds