इराक में मारे गए लोगों के परिवारों को 10 लाख रुपए देंगे मोदी

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इराक में मारे गए सभी 39 भारतीयों के निकटतम परिजनों को 10-10 लाख रुपये अनुग्रह राशि देने की आज घोषणा की। आधिकारिक सूत्रों ने उक्त जानकारी दी। युद्ध से जर्जर इराक में मारे गए 39 भारतीयों में से 38 के अवशेष विशेष विमान से मंगलवार को देश वापस लाए गए। उन्हें परिजनों को सौंप दिया गया है।

इराक में आतंकवादी समूह आईएस द्वारा बंधक बनाए गए 40 भारतीयों का कोई भी रिकॉर्ड किसी दूतावास में नहीं है। विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने बताया कि क्योंकि वे वहां ट्रैवल एजेंट के माध्यम से अवैध रूप से गए थे। विदेश राज्यमंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि विदेश मंत्रालय ने 2014 में एक अभियान की शुरुआत की थी जिसमें हमने कहा था कि किसी को अवैध एजेंट के माध्यम से बाहर नहीं जाना चाहिए।

किसी भी दूतावास में इन 40 लोगों का रिकॉर्ड नहीं है। उन्होंने कहा कि जब आप अवैध एजेंट के माध्यम से जाते हैं तो आप कहां जाते हैं इसका पता लगाना कठिन हो जाता है। मंत्री ने कहा कि अगर सरकार के पास इन लोगों के बारे में कोई भी सूचना होती तो उन्हें बचाने का प्रयास किया जाता। उन्होंने कहा कि राज्य और केंद्र सरकारों को मिलकर सुनिश्चित करना चाहिए कि भोले भाले लोग अवैध ट्रैवल एजेंट का शिकार नहीं बनें।

 

गौरतलब है कि आतंकवादी संगठन आईएसआईएस द्वारा बंधक बनाये गए 40 में से 39 भारतीय मजूदरों की उन्होंने हत्या कर दी थी जबकि एक मजदूर स्वयं को बांग्लादेशी मुसलमान बताकर वहां से भागने में सफल रहा था। इराक में मारे गए 39 भारतीयों में से 27 पंजाब, चार हिमाचल प्रदेश, 6 बिहार और दो पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे।

PropellerAds