udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news जगदलपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस के 9 डिब्बे पटरी से उतरे

जगदलपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस के 9 डिब्बे पटरी से उतरे

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

32 लोगों की मौत हो गई और 50 से ज्यादा यात्री घायल

भुवनेश्वर: आंध्र प्रदेश के विजियानगरम जिले में जगदलपुर-भुवनेश्वर (हीराखंड) एक्सप्रेस के 9 डिब्बे पटरी से उतर गये जिससे अब तक 32 लोगों की मौत हो गई और 50 से ज्यादा यात्री घायल हो गये। अधिकारियों ने बताया कि यह घटना शनिवार रात करीब 11 बजे हुई जब ट्रेन जगदलपुर से भुवनेश्वर जा रही थी। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हादसे में मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख, गंभीर रुप से घायलों को 50-50 हजार रुपये और सामान्य घायलों को 25-25 हजार रुपये मुआवजे की घोषणा की।

सूत्रों ने कहा, ‘इस इलाके के नक्सलवाद से प्रभावित होने के कारण और गणतंत्र दिवस के करीब होने के कारण पटरी के साथ छेड़छाड़ किए जाने की कड़ी आशंका है। साजिश के संदेह से इनकार नहीं किया जा सकता।’ सूत्रों ने कहा, ‘रेलवे सुरक्षा आयुक्त दुर्घटना की वजह का पता लगाने के लिए व्यापक जांच करेंगे।’ सूत्रों के अनुसार, ‘एक मालगाड़ी इसी पटरी से सुरक्षित ढंग से निकल गई थी। गश्त करने वाले व्यक्ति ने भी पटरी की जांच की थी। हालांकि ट्रेन चालक को ट्रेन के पटरी से उतरने से ठीक पहले किसी पटाखे जैसी आवाज सुनाई दी थी। ऐसा लगता है कि पटरी पर बड़ी दरार पड़ी होगी, जिसके कारण ट्रेन पटरी से उतर गई।’

  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर गहरा दुख जताते हुए कहा, मेरी संवेदनाएं, जगदलपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस के पटरी से उतर जाने के कारण अपने प्रियजनों को गंवाने वाले लोगों के साथ हैं। यह त्रासदी दुखद है। मैं रेल दुर्घटना में घायल सभी लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। रेल मंत्रालय स्थिति की करीब से निगरानी कर रहा है और त्वरित राहत एवं बचाव अभियानों को सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहा है।

रायगढ़ा की कलेक्टर पूनम गुहा ने बताया कि अब तक 32 लोगों की मौत हो गई है और 50 घायल हो गए हैं। ईस्ट कोस्ट रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी जे पी मिश्रा ने बताया कि कुनेरू स्टेशन के समीप 18448 जगदलपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस के 9 डिब्बे और इंजन पटरी से उतर गये। मिश्रा ने बताया कि मौके पर पहुंचे डॉक्टरों के एक दल ने अब तक 23 यात्रियों के मारे जाने की पुष्टि की है। कई लोगों के ट्रेन के क्षतिग्रस्त डिब्बों में फंसे होने के कारण हताहतों की संख्या बढ़ सकती है।

  मिश्रा ने बताया कि विजियानगरम और रायगढ़ा जिला प्रशासन बचाव अभियान में सक्रिय हैं। इस ट्रेन में 22 बोगियां थी। रायगढ़ा और विजियानगरम मार्ग पर रेल सेवाएं बाधित है। कम से कम तीन ट्रेनों को रद्द किया गया है और आठ ट्रेनों के मार्गों में परिवर्तन किया गया है। लगेज सह गार्ड वैन समेत शेष 13 बोगियां संभलपुर-अंगुल मार्ग से होकर भुवनेश्वर जाते हुए रायगढ़ा के लिए रवाना हो गयीं। जररत पड़ने पर रायगढ़ा में अतिरिक्त बोगियां लगायी जाएंगी।

रेलवे ने यात्रियों को ले जाने के लिए पारवतीपुरम बस डिपो के साथ मिलकर बसों की व्यवस्था की है। यात्रियों को पलासा और बेहरामपुर इलाकों की ओर ले जाने के लिए पांच बसों की व्यवस्था कर ली गयी है। फंसे हुये लोगों को उनके गंतव्य स्थानों तक पहुंचाने के लिए कुल 15 बसों की व्यवस्था की जा रही है। घायलों को अस्पतालों तक ले जाने के लिए 10 से ज्यादा एम्बुलेंस बुलायी गयीं हैं। अब तक 22 घायलों को इलाज के लिए पारवतीपुरम सरकारी अस्पताल ले जाया गया है जहां से सात लोगों को विशाखापत्तनम भेजा गया है जबकि 32 घायलों को रायगढ़ा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस बीच, रेलवे ने हादसे की जांच के आदेश दे दिये हैं। रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने कहा, ‘इस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे में अभी तक 23 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है और 36 लोग घायल हैं। माननीय रेल मंत्री लगातार स्थिति पर नजर रखे हुये हैं और वह बेहतर राहत अभियानों के लिए रेलवे बोर्ड और मंडलीय रेलवे को लगातार निर्देश दे रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इस मार्ग पर यातायात थोड़ा बाधित हुआ है। अभी हादसे के कारणों का पता नहीं चला है। जांच के बाद ही इसका पता चलेगा।’

रेल मिनिस्ट्री के अफसरों ने पटरियों के साथ छेड़छाड़ करने की आशंका जताई है। ईस्ट कोस्ट रेलवे के पीआरओ जेपी मिश्रा ने सुबह आठ बजे बताया- ‘18448 जगदलपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस कुनेरू स्टेशन के पास पटरी से उतर गई। इंजन के अलावा लगेज वैन, दो जनरल, दो स्लीपर, एक एसी 3 टीयर और एक एसी 2 टियर कोच पटरी से उतर गए। 23 यात्रियों की मौत हुई है। रायगड़ा और विजयनगरम एडमिनिस्ट्रेशन रेस्क्यू के काम में लगा हुआ है। ‘डॉक्टरों की एक टीम भी मौके पर पहुंच गई।’
रायगड़ा के सब-कलेक्टर मुरलीधर स्वैन के मुताबिक, करीब 100 लोग जख्मी हुए हैं। मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है। घायलों को पार्वतीपुरम और रायगड़ा के हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। मौके पर 4 रिलीफ वैन भेजी गई हैं। ट्रेन में 22 कोच लगे हुए थे। रेल मिनिस्ट्री के मुताबिक, खुद रेल मंत्री हालात पर नजर रख रहे हैं। सीनियर अफसर तुरंत मौके पर पहुंच गए। रेलवे के स्पोक्सपर्सन अनिल सक्सेना के मुताबिक, ‘मौके पर एनडीआरएफ की टीम पहुंच गई है। राहत कार्य तेजी से चलाया जा रहा है। मामले की जांच कराई जाएगी, तभी हादसे की वजह सामने आएगी।’ आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने कहा, मेरी संवेदनाएं हादसे में मारे गए लोगों के परिजन के साथ हैं। हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। घायलों को तुरंत मदद मुहैया कराई जा रही है।
कई ट्रेनों के रूट बदले गए
रेल ट्रैफिक पर असर पड़ा है। हादसे के चलते कई ट्रेनों का रूट बदला गया है। पैसेंजर्स को लाने के लिए 5 बसों की व्यवस्था की गई है। कुनेरू स्टेशन रायगड़ा से 35 किलोमीटर दूर विजयनगरम में है। यह इलाका नक्सलवाद से प्रभावित है। फिलहाल इस हादसे के कारणों का पता नहीं चल सका है।
ये हैं हेल्पलाइन नंबर
– रायगड़ा में हेल्पलाइन नंबर
1. बीएसएनएल लैंडलाइन नंबर: 06856.223400, 06856.223500
2. मोबाइल: 09439741181, 09439741071
3. एयरटेल: 07681878777
– विजयनगरम में हेल्पलाइन नंबर
1. रेलवे नंबर: 83331, 83333, 83334,
2. बीएसएनएल लैंडलाइन 08922.221202.
3. खुर्दा कंट्रोल: 0674 2490670
4. भुवनेश्वर स्टेशन: 06742543360
5. बेहरमपुर स्टेशन:06802229632

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •