हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव नौ नवंबर को

नई दिल्ली । हिमाचल प्रदेश की 68 विधानसभा सीटों के चुनाव कराने चुनाव कार्यक्रम घोषित हो गया है, जिसके अनुसार नौ नवंबर को 7521 मतदान केंद्रों पर वोटिंग होगी और चुनाव के नतीजे 18 दिसंबर को होने वाली मतगणना में सामने आएंगे। चुनाव आयोग के अनुसार हिमाचल प्रदेश के सभी मतदान केंद्रों के प्रत्येक बूथ पर वीवीपैट प्रणाली लागू की जाएगी।

 

केंद्रीय चुनाव आयोग में मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति आज हिमाचल प्रदेश में चुनाव का ऐलान करते हुए बताया कि 16 अक्टूबर को नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी और 23 अक्टूबर तक उम्मीदवार अपने नामांकन दाखिल कर सकेंगे।

 

24 अक्टूबर को नामांकनों की जाचं होगी और 26 अक्टूबर तक नामांकन वापिस लिये जा सकेंगे। नौ नवंबर को राज्य की सभी 68 सीटों के लिए मतदान होगा और 18 नवंबर को मतगणना होगी।

 

उन्होंने पत्रकारों को बताया कि मतदान पहली बार मतदान केंद्रों के प्रत्येक बूथ पर ईवीएम के साथ मतदान सत्यापन पर्ची के रूप में वीवीपैट प्रणाली का इस्तेमाल किया जाएगा। आयोग के अनुसार इन चुनाव में उम्मीदवार अधिकतम 28 लाख रुपये खर्च कर सकता है। वहीं हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान नामांकन, रैली और जुलूस और वोटिंग की वीडियोग्राफी करायी जाएगी।

 

महिलाओं के अलग बूथ
चुनाव आयोग ने पहली बार इन चुनावों में महिलाओं के लिए मतदान केंद्र बनाने की व्यवस्था को अंजाम दिया है। आयोग के अनुसार राज्य में 136 मतदान केंद्र ऐसे बनाए गये हैं, जिनके हर बूथ पर चुनाव डयूटी के दौरान महिला कर्मचारी ही तैनात की जाएंगी।

 

राज्य में 49 लाख, 05 हजार 677 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनमें 24 लाख 24 लाख 7 हजार 492 महिला मतदाताओं की संख्या है। राज्य की 68 विधानसभा सीटों में 17 सीटें अनुसूचित जाति और तीन अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित की गई हैं।

 

हिमाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 17 जनवरी 2018 तक है। आयोग के अनुसार इन चुनाव में उम्मीदवार अधिकतम 28 लाख रुपये खर्च कर सकता है।

मौजूदा हिमाचल विधानसभा की स्थिति
कांग्रेस-36
भाजपा-26
हिलोपा-01
निर्दलीय-05