हिमाचल प्रदेश के हिमालय में खिला ‘कमल’ गुजरात फिर हुआ ‘भगवा’

नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश के हिमालय में खिला ‘कमल’ गुजरात फिर हुआ ‘भगवा’ विधानसभा चुनाव 2017 के परिणाम यही बता रहे है और भाजपा को तमाम एक्जिट पोलों में पहले ही यह तय हो गया था कि भाजपा दोनो राज्यों में जीत रही है और दोनों राज्यों में कमल खिलेगा और खिल गया।

गुजरात विधानसभा की 182 सीटों और हिमाचल की 68 विधानसभा सीटों पर वोटों की गिनती जारी हैैै. गुजरात और हिमाचल चुनावों में एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी का मैजिक चला है. गुजरात में जहां एक बार फिर रुझानों में बीजेपी की सरकार बन रही है. वहीं हिमाचल में भी एक बार फिर से बीजेपी की सरकार बनती नजर आ रही है. बीजेपी ने दोनों ही विधानसभा चुनावों के रुझानों में बहुमत हासिल कर लिया है. केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता स्मृति ईरानी ने कहा, “यह हमारे लिए बहुत खुशी की बात है. यह विकास की जीत है.” उन्‍होंने कहा, “जो जीता, वही सिकंदर. यह प्रत्येक बूथ कार्यकर्ता की कड़ी मेहनत की जीत है, और उन लोगों की जीत है, जिन्हें विकास पर विश्वास था.”

चुनाव नतीजों पर यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्‍व बदलना बीजेपी के लिए शुभ संकेत. वहींं कांग्रेस नेता शशि थरूर ने गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 परिणाम पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भले ही उनकी पार्टी मंज़िल तक नहीं पहुंची, लेकिन उसका सफ़र निश्चित रूप से अच्छा रहा. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए गुजरात के इस परिणाम को ‘पहला झटका’ मानने से इंकार करते हुए कहा, “पहले ही टेस्ट मैच में शतक की उम्मीद करना बेमानी है. यह पहला चुनाव था, हमने अच्छा प्रदर्शन किया.” उन्होंने कहा कि गुजरात में पार्टी ने 70 सीटों पर बढ़त बनाई है, जबकि बीजेपी अपने ही गढ़ में कमज़ोर हुई है. रुझानों में बीजेपी 107 सीटों पर आगे चल रही है तो वहीं कांग्रेस 73 सीटों पर आगे है.

हिमाचल प्रदेश में भाजपा के इंदर सिंह गांधी ने मंडी जिले के बाल्ह से चौधरी को बड़े अंतर से हराया. वहीं कांग्रेस के अनिरुद्ध सिंह को पहली जीत मिली है. अनिरूद्ध ने बीजेपी के विजय ज्योति को 9397 वोटों से हराया है. राजनाथ सिंह ने कहा कि हिमाचल और गुजरात में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलेगा. वहीं नितिन भाई पटेल ने कहा कि बीजेपी निश्चित तौर पर गुजरात में सरकार बनाने जा रही है. पीएम मोदी ने विक्‍ट्री साइन दिखाया. गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने राजकोट पश्चिम से चुनाव जीता, नितिन पटेल अभी भी चल रहे है पीछे, मणिनगर उत्तर से बीजेपी ने जीत दर्ज की. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शक्ति सिंह गोहिल पीछे चल रहे हैं.

गुजरात में कांग्रेस के प्रभारी अशोक गहलोत ने कांग्रेस के प्रदर्शन पर कहा कि यह 2019 की शुरुआत है. वहींं रापर, सौराष्ट्र से कांग्रेस आगे, वीजापुर उत्तर से कांग्रेस आगे, नूरपुर पश्चिम से बीजेपी आगे, कालावाड से कांग्रेस आगे, करांज दक्षिण से बीजेपी आगे, पार्डी दक्षिण से बीजेपी आगे, केशोड से बीजेपी आगे, फतेहपुर पश्चिम से बीजेपी आगे, राजकोट पूर्व से बीजेपी आगे, उना से कांग्रेस आगे, मांगरोल दक्षिण से बीजेपी आगे, सीएम विजय रुपाणी राजकोट पश्चिम से पीछे. महुधा मध्य से कांग्रेस आगे, जीतू वाघाणी पीछे, मेहसाड़ा उत्तर से कांग्रेस आगे, रामपुर पूर्व से कांग्रेस आगे, पछाड़ से बीजेपी आगे, धारी से कांग्रेस आगे. अंकलेश्लवर मध्य से बीजेपी आगे, कंसपुटी से बीजेपी पीछे, राजुला सौराष्ट्र से कांग्रेस आगे, कलोल मध्य से बीजेपी आगे.

तमाम टीवी चैनलों पर आए एग्जिट पोल्स के अनुमानों से बीजेपी काफी उत्साहित है और चुनाव वाले दोनों ही राज्यों में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने का दावा कर रही है. हालांकि कांग्रेस इस दावे को बेकार बता रही है. खासतौर पर गुजरात में राहुल गांधी और हार्दिक पटेल के लिए जुटी भीड़ के आधार पर कांग्रेस सत्तारूढ़ बीजेपी को पटखनी देने का दावा कर रही है. कांग्रेस को उम्मीद है कि चुनाव में जीत अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी के लिए सबसे बड़ा तोहफा होगा. हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर को मतदान हुआ था. राज्य में 74.61 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई थी. गुजरात में दो चरणों में क्रमश: 9 दिसंबर और 14 दिसंबर को मतदान कराए गए थे.

चुनाव आयोग के मुताबिक गुजरात में दो चरणों में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में औसत मतदान प्रतिशत 68.41 रहा. 2012 में बीजेपी को विधानसभा चुनाव में 48.30 फीसदी वोटों के साथ 115 सीटें हासिल हुई थीं, जबकि कांग्रेस 40.59 फीसदी वोट के साथ 61 सीटें हासिल कर पाई थी. एग्‍ज‍िट पोल के अुनसार गुजरात में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलने के आसार है वहीं कांग्रेस की सीटों में भी कुछ फायदा होने की उम्‍मीद है.
अगर सभी एक्जिट पोल का औसत निकालें तो गुजरात में बीजेपी को 182 में से 116 सीटें मिलने जा रही हैं. यानी 2012 में हुए चुनाव के मुकाबले बीजेपी को एक सीट ज्‍यादा मिलेगी. पोल ऑफ पोल्‍स के अनुसार कांग्रेस को गुजरात में 65 सीटों से संतोष करना पड़ेगा. गुजरात में सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को 92 सीट जीतने की आवश्यकता है.हिमाचल प्रदेश की बात करें तो राज्‍य में विधानसभा की कुल 68 सीटें हैं. विभिन्‍न एग्‍ज‍िट पोल के अनुसार बीजेपी यहां आसानी से जीत दर्ज करने जा रही है. सभी एक्जिट पोल का औसत निकालें तो बीजेपी के खाते में 68 में से 49 सीटें जाती दिख रही हैं. कांग्रेस को यहां भारी हार का सामना करना पड़ सकता है.

#ElectionsWithNews18 बीजेपी भारी या कांग्रेस की बारी? देखें चुनाव की महाकवरेज #Live #SabseBadaDangal

Geplaatst door News18 Hindi op zondag 17 december 2017