गोल्डन गर्ल : 16 साल की उम्र में मनु ने रचा इतिहास, देश को फिर दिलाया सोना

सिडनी । मनु भाकर और अनमोल ने दस मीटर एयर पिस्टल मिश्रित स्पर्धा में क्वालीफिकेशन में वर्ल्ड रिकार्ड के साथ मंगलवार को यहां गोल्ड मैडल जीता जो भारत का आईएसएसएफ जूनियर वर्ल्डकप निशानेबाजी में सातवां स्वर्ण पदक है.

गनेमत शेखों ने महिलाओं की जूनियर स्कीट में फाइनल में 36 अंक बनाकर कांस्य पदक हासिल किया. भाकर और अनमोल ने अपनी स्पर्धा में शुरू से ही दबदबा बनाये रखा. उन्होंने क्वालीफिकेशन में सर्वाधिक स्कोर बनाया और इस बीच जूनियर क्वालीफिकेशन का नया वर्ल्ड रिकार्ड भी स्थापित किया. अनमोल और भाकर ने 770 अंक के साथ यह रिकार्ड बनाया.

इसके बाद फाइनल में भी उन्होंने पहली सीरीज से अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा. वे अपने करीबी प्रतिद्वंद्वी चीन के लियु जिनयावो और ली झुई से लगातार अंतर बढ़ाते रहे. उन्होंने आखिर में 478.9 अंक बनाये जो वर्तमान विश्व रिकार्ड से केवल 1.8 अंक कम है. चीन ने रजत और कांस्य पदक दोनों जीते. लियु जिनयाओ और ली झुई 473.3 अंक के साथ दूसरे जबकि वांग झेहाओ और झियो झियाझुआन 410.7 अंक बनाकर तीसरे स्थान पर रहे.

भारत की दूसरी टीम में 18 वर्षीय गौरव राणा और 19 वर्षीय महिमा तुर्ही अग्रवाल शामिल थे. ये दोनों पदक से चूक गये. उन्हें फाइनल में 38 शाट के बाद बाहर होना पड़ा, तब उन्होंने 370.2 अंक बनाये थे और वे चौथे स्थान पर थे. भारत अब सात गोल्ड सहित 17 पदक लेकर दूसरे स्थान पर चल रहा है. चीन आठ स्वर्ण सहित 21 पदक लेकर शीर्ष पर है.

इसी महीने मैक्सिको की रिजवी सिटी में हुए वर्ल्ड शूटिंग गेम्स में पहले ही मनु भाकर 2 गोल्ड जीत चुकी हैं. 1 महीने के अंतराल में झज्जर की बेटी ने भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 5 5 स्वर्ण पदक दिलाये. मनु भाकर झज्जर के गोरिया गांव की रहने वाली हैं. पिछले साल एशियन शूटिंग गेम्स में रजत पदक जीता था.

महज 16 साल की शूटर मनु लगातार रच रही है इतिहास. इसी साल होने वाले कामनवेल्थ गेम्स के लिए पहले ही कर चुकी हैं क्वालीफाई.

PropellerAds