ग्लोबल रैंकिंग  : ऐप्स डाउनलोड करने में नंबर वन हैं भारतीय

बेंगलुरु । गूगल प्लेस्टोर और ऐपल आईओएस पर मौजूद ऐप्स की सबसे ज्यादा डाउनलोडिंग इंडिया में होती है। यह बात ऐप मार्केट डेटा और इनसाइट कंपनी ऐप एनी की बनाई मार्च 2018 क्वॉर्टर की लिस्ट से एक बार फिर साबित हुई है। इंडिया इसके साथ ही मौजूदा कैलेंडर ईयर के पहले क्वॉर्टर में सालाना आधार पर 41 प्रतिशत रेवेन्यू ग्रोथ के साथ के लिहाज से दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ता मार्केट है, हालांकि रेवेन्यू की ग्लोबल रैंकिंग में 29वें नंबर पर है।

 

अमेरिका दूसरे और चीन तीसरे (सिर्फ आईओएस में) नंबर पर है। इंडियन मार्केट्स के डाउनलोड में 2018 के पहले क्वॉर्टर के दौरान 2016 की पहली तिमाही के मुकाबले 250 प्रतिशत की जोरदार बढ़ोतरी हुई है। पहले क्वॉर्टर में गूगल प्ले और आईओएस से हुए कंबाइंड डाउनलोड में 14 प्रतिशत हिस्सेदारी इंडिया की रही थी, इसके बावजूद रेवेन्यू जेनरेशन के मामले में यह $4.7 करोड़ के साथ ग्लोबल लिस्ट में 29वें पायदान पर है।

 

ऐप डाउनलोडिंग का सबसे बड़ा बाजार अमेरिका हर साल $3.2 अरब का रेवेन्यू जेनरेट करता है जबकि इस लिस्ट में जापान $2.7 अरब के साथ दूसरे चीन $2.4 अरब के साथ तीसरे नंबर पर है। रिलायंस जियो की लॉन्चिंग के साथ इंडिया में जिस रफ्तार से ब्रॉडबैंड की पहुंच बढ़ रही है उससे यूजर्स की ऐप कंज्म्पशन की आदतें भी बदल रही हैं। डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम के डेटा के मुताबिक, इंडिया में 2014 में एवरेज डेटा यूसेज पर यूजर 62 एमबी मंथली था जो 2017 में 25 गुना बढक़र 1.6 जीबी मंथली हो गया।

 

ऐप ऐनी के प्रवक्ता ने कहा, इंडियन कन्ज्यूमर्स कंटेंट के प्यासे हैं। पहले क्वॉर्टर में सबसे ज्यादा बार डाउनलोड होनेवाला टॉप 10 ऐप में तीन वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप: जियोटीवी (6), एयरटेल टीवी (7) और हॉटस्टार (8) रहे थे। यह ट्रेंड सिर्फ इंडिया में देखने को मिलता है क्योंकि चीन और अमेरिका के टॉप 10 डाउनलोडिंग ऐप में ऐसी सिर्फ एक ही सर्विस है: चीन में टेनसेंट वीडियो और अमेरिका में नेटफ्लिक्स। इनके उलट इंडिया में एक भी गेमिंग ऐप टॉप 10 में नहीं है जबकि चीन में ऐसे दो ऐप: ट्रैवल फ्रॉग और पीयूबीजी मोबाइल हैं। जहां तक अमेरिका की बात है तो यहां सिर्फ एक गेम है पीयूबीजी मोबाइल।

 

ऐप ऐनी की 2017 रेट्रोस्पेक्टिव रिपोर्ट में इंडिया को ज्यादा बार डाउनलोडिंग के मामले में चीन के बाद लेकिन अमेरिका से पहले वाली जगह दी गई थी क्योंकि ऐप ऐनी अपनी सालाना रेट्रोस्पेक्टिव रिपोर्ट के लिए थर्ड पार्टी ऐप स्टोर डेटा को भी यूज करती है। केपीएमजी इंडिया में पार्टनर और हेड- कन्ज्यूमर मार्केट्स और इंटरनेट बिजनस श्रीधर प्रसाद ने कहा, इंडिया में स्मार्टफोंस के रेट गिर रहे हैं और यूजर्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है। जियो इफेक्ट से हर मोबाइल प्लेयर के डेटा प्राइस में तेज गिरावट आई है। लोग गेम्स के लिए पैसे खर्च कर रहे हैं और यहां भी सब्सक्रिप्शन कल्चर धीरे धीरे आ रहा है।

PropellerAds