ईद पर कुर्बानी का वीडियो सोशल वीडियो पर शेयर न करें

वडोदरा । अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष रबी हसानी नदवी सहित नौ प्रमुख मुस्लिम धर्मगुरुओं मौलवियों ने अपने समुदाय से सावधानी बरतने को कहा है, ताकि शनिवार को बकरीद मनाते वक्त कोई सांप्रदायिक विवाद न हो।

 

उन्होंने मुसलमानों से अनुरोध किया है कि सोशल मीडिया पर जानवरों की कुर्बानी से जुड़े फोटो और वीडियो साझा करें, इससे अन्य लोगों को परेशानी हो सकती है। नदवी ने मुस्लिम समुदाय से अपील करते हुए कहा, ‘सडक़ों और सार्वजनिक स्थानों पर कुर्बानी ना करें। स्लॉटर हाउस में ही कुर्बानी करें। ऐसा कोई काम ना करें, जिससे अन्य समुदाय के लोगों को परेशानी हो।

 

देश के कानून का पालन करते हुए प्रशासन व नगर निगम का सहयोग करें। कोई तनाव पैदा न करें और अनुशासन बनाए रखें। हमें किसी भी स्थिति में कानून नहीं तोडऩा चाहिए। नदवी की ये अपील शुक्रवार की नमाज़ के दौरान मस्जिदों में पढ़ी जाएगी।

 

अपील के अन्य हस्ताक्षरकर्ताओं में खालिद सैफुल्लाह रहमानी (सचिव, एआइएमपीएलबी), खालिद रशीद फिरंगी महली (सदस्य कार्यकारी समिति, एआईएमपीएलबी), सैयद जलनाउद्दीन उमरी (अमीर, जमते इस्लामी हिंद), नवायद हामिद (अध्यक्ष, अखिल भारतीय मुस्लिम मजलिस-ए- मुशवरात), यासीन अख्तर मिस्बाही (दारूल कालेम के प्रमुख), सैयद महमूद मदनी (जनरल सेक्रेटरी जमिती उलमा-ए-हिंद), अली असगर इमाम महदी (जनरल मैनेजर, मार्काजी जमीयत एहले हदीस हिंद) और कल्बे जवाद नकवी शामिल हैं।

 

वडोदरा में दारूल उलुम के प्राचार्य मुफ्ती आरिफ हाकिम फलाही ने कहा, ‘हम ऐसे देश में जहां कई धर्म के लोग एक साथ रहते हैं। इस्लाम पर्दे में की जाने वाली कुर्बानी की बात करता है। अन्य लोगों के दिखावे के लिए नहीं। अन्य समुदायों जैसे हिंदू और जैन कुर्बानी की तस्वीरों और वीडियो को देखकर परेशान होते हैं।

 

इसलिए हमें ऐसा करने से बचना चाहिए।’ उधर मुस्लिम धर्मगुरु खालिद रशीद ने अवैध स्लॉटर हाउस में कुर्बानी करने की इजाजत देने की अपील सरकार से की है। उन्होंने कहा, ‘सरकार से अपील है कि हमें बकरीद के दौरान स्लॉटर हाउस में कुर्बानी देने की इजाजत दे, ताकि लोग इसे घर में न करें। सरकार ने ज्यादातर स्लॉटर हाउस बंद कर दिए हैं तो लोगों को पता नहीं चल पा रहा कि वह कुर्बानी कहां दे।