दुर्लभ योग : शनि भरने वाले हैं आपके जीवन में रंग-बिरंगे रंग !

8 साल बाद शनि देवगुरु बृहस्पति की राशि में, इन राशि वालों की होगी बल्ले बल्ले !

उदय दिनमान डेस्कः दुर्लभ योग : शनि भरने वाले हैं आपके जीवन में रंग-बिरंगे रंग ! होली के त्योहार का सभी को इंतजार रहता है और हर कोई होली के रंगों के साथ अपने मनों के दोष को मिटाकर एक जुट और एकता के साथ होली का पर्व मनाते हैं। इस बार ज्योतिष पर बता रहे हैं कि हमारे ग्रह-नक्षत्र भी हमारे लिए सुखी संदेश लेकर आयी है।शनि ने अपनी चाल बदल दी है और आपके जीवन में रंगों की चमक के साथ आपकी किस्मत भी चमकाने वाली है।

 

हमारे जीवन में हमारी राशि और हमारी कुंडली में बैठे ग्रह-नक्षत्र भी हमारे जीवन में बहुत प्रभाव छोड़ते हैं। मसलन हमारा आने वाला जीवन कैसा होगा और जीवन में सुख और दुःख का क्या महत्व होने के साथ-साथ हमे क्या-क्या फायदे देगा।  ज्योतिष विद्वानों के अनुसार इस बार होली खास रहने वाली है क्योंकि 28 साल बाद शनि देवगुरु बृहस्पति की राशि में स्थित हैं।आपको बता दें कि 1990 में भी यही योग बने थे। इस साल की होली कार्य-व्यवसाय में बड़े मुनाफे के संकेत दे रही है। मंद पड़े कारोबार में भी उछाल आने की संभावना है। रोजगार के अवसरों में वृद्धि होगी।

 

शनि के इस परिवर्तन से आपकी राशि पर क्या असर पडे़गा और क्या उपाय करें जाने विस्तार से-

 

मेष- सुख और खुशियों का आगाज होगा। यात्रा पर जा सकते हैं। गणपति जी को मिश्री का भोग लगा कर बांट दें।

 

वृष- घी में रहेंगी पांचों उंगलियां लेकिन अपनों से दूर जाना पड़ सकता है। मां दुर्गा के सामने शुद्ध गाय के घी का दीपक लगाएं।

 

मिथुन- अच्छे दिनों का होगा आरंभ, बुरे दिनों को भुलने का प्रयास करें। शिवलिंग पर गाय का कच्चा दूध अर्पित करें।

 

कर्क- समय कुछ बेहतर होगा, संबंधों में स्थिति ज्यों की त्यों बनी रहेगी। पवनपुत्र के समक्ष घी का दीपक लगाकर लाल फूल अर्पित करें।

 

सिंह- तन, मन और धन के लिए समय सामान्य रहेगा। बप्पा को दूर्वा चढ़ाएं।

 

कन्या- शुभ योगों का आगाज हो रहा है लेकिन सावधान रहने की आवश्यकता है। शिव-पार्वती का पूजन श्रेष्ठ फल देगा।

 

तुला- समय रहते जरूरी काम पूरे कर लें, बुरा समय आ सकता है लेकिन हौसले बुलंद रहेंगे। ऊँ नम: शिवाय मंत्र का कम से कम एक माला जाप करें।

 

वृश्चिक- भाग्य का मिलेगा साथ, विरोधी होंगे समाप्त। फिर भी चौकन्ना रहें। गौ माता को अपने हाथों से हरा चारा खिलाएं।

 

धनु- छप्पर फाड़ लाभ के साथ विवाद होंगे शांत। छोटी-मोटी परेशानियों के साथ बढ़ेगा काम का बोझ। बजरंगबली को सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाएं।

 

मकर- समय कुछ अच्छा नहीं है, हर तरह से विफलताएं और नकारात्मकता हाथ लगेगी। प्रतिदिन अपनी सुबह का आरंभ श्री राम दरबार के दर्शनों से करें।

 

कुंभ- समय शुभ है, अच्छे कामों पर खर्च होगा और यात्राएं करने का मौका मिलेगा। शनिवार की शाम पीपल के पेड़ पर घी का दीपदान करें।

 

मीन– अपने आप पर काबू रखें, गलत फैसला लेने से बचें। अच्छे लोगों से मुलाकात होगी। हर रोज शिव चालीसा का पाठ करें।

PropellerAds