दुकानों से सड़ा-गला मांस ,खाद्य सुरक्षा विभाग ने मीट मार्केट में मारा छापा

रुद्रप्रयाग। खाद्य सुरक्षा विभाग की ओर से नगर के नये बस अड्डे स्थित मीट मार्केट में आकस्मिक छापा मारा गया। छापेमारी अभियान की सूचना शायद पहले ही कुछ मीट व्यापारियों को लग गई थी, जिस कारण कुछ दुकानें पहले से ही बंद थी। जिन दुकानों में विभागीय अधिकारियों ने छापा मारा, वहां उन्हें सड़ा-गला मांस बरामद हुआ। ऐसे में इन मीट व्यवसायियों पर जुर्माना ठोका गया। साथ ही इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई गई।

दरअसल, मीट व्यापारियों द्वारा मांस के शौकीनों को सड़ा-गला मांस बेचे जाने की शिकायत मिल रही थी। कई बार मांस के शौकीन लोग बीमार भी पडे़ और उन्हें अपना ईलाज करवाना पड़ा। ऐसे में मांस के शौकीन लोगों ने मीट व्यापारियों की शिकायत जिलाधिकारी से की। जिलाधिकारी की ओर से खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों को मीट मार्केट में छापा मारने को कहा गया। विभागीय अधिकारियों ने जैसे ही मीट मार्केट में छापा मारा तो वे दंग रह गये।

पहले तो उन्हें कुछ दुकानें बंद मिली, मगर जो दुकाने खुली हुई थी, वहां देखकर वे हैरान रह गये। खाद्य सुरक्षा अधिकारी बलवंत सिंह चौहान एवं अभिहित अधिकारी प्रमोद रावत ने ताज मीट विक्रेता की दुकान पर छापा मारा तो दस किलो सड़ी मच्छी और गला चिकन बरामद किया गया। मांस व्यापारी ने सड़ी-गली मीट को बॉक्स के भीतर छुपाये रखे हुआ था, जिसे वह ताजे मीट के बीच में मिलाकर बेचने वाला था। इसके बाद खाद्य अधिकारियों ने गढ़वाली शॉप एवं श्याम सिंह की दुकान पर छापेमारी की।

यहां भी उन्हें सड़ा-गला मांस बरामद हुआ। जिस पर अधिकारियों ने मांस विक्रेताओं पर जुर्माना ठोकने के साथ ही सख्त कार्रवाई की। खाद्य सुरक्षा अधिकारी बलवंत सिंह चौहान ने कहा कि बार-बार मांस विक्रेताओं द्वारा सड़ा-गला मांस बेच जाने की शिकायत मिल रही थी। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर सघन छापेमारी अभियान चलाया गया है और मांस विक्रेताओं द्वारा सड़ा-गला मांस बेचा भी जा रहा है।

मांस के शौकीन लोगों को मीट व्यापारी ताजे मांस के बीच सड़ा-गला मांच बेचकर दे रहे हैं। यह उनके स्वास्थ्य के साथ सरासर खिलवाड़ है। उन्होंने कहा कि ऐसे मांस विक्रेताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। इस मौके पर अनुसेवक सुखबीर सिंह सहित अन्य कर्मचारी भी मौजूद थे।

PropellerAds