डीएम ने केदारपुरी में पुनर्निर्माण कार्यों का लिया जायजा

मजदूरों, कर्मचारियों को स्वास्थ्य और सुरक्षा का ध्यान देने को कहा
अधिकारियों को दिये जल्द से जल्द कार्य निपटाने के निर्देश

रुद्रप्रयाग। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने शनिवार को केदारनाथ धाम में चले रहे पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लिया। केदारनाथ धाम में वर्तमान में मन्दिर गेट से सर्किल प्वाइंट तक नए पैदल मार्ग का निर्माण किया जा रहा है, जिस पर आठ ब्लॉकों का कार्य पूरा कर दिया गया है और खण्डिजा बिछाने का कार्य गतिमान है।

जिलाधिकारी ने कहा कि पुनर्निर्माण कार्य जल्द से जल्द पूर्ण हो सके, इसके लिए कार्यदायी संस्थाएं तेजी से जुटी हुई है। उन्होंने केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्यों को देख रहे एसडीएम ऊखीमठ को निर्देशित किया कि पुनर्निर्माण कार्यों में लेट-लतीफी ना हो इसके लिए पूरी तत्परता बरते साथ ही मजदूरों और सभी अधिकारी-कर्मचारियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा का भी ध्यान रखें।

केदारनाथ में निरीक्षण के दौरान निम के प्रभारी देवेन्द्र बिष्ट ने बताया कि वर्तमान में सरस्वती नदी के किनारे बाढ सुरक्षा का कार्य चल रहा है। फिलहाल खुदाई कर मलबा हटाया जा रहा है और जल्द ही प्रोटेक्शन वाल का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। जिलाधिकारी ने बाढ सुरक्षा कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। अधीक्षक अभियंता सिंचाई ने बताया कि घाट निर्माण के लिए टेण्डर प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है, जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि एक सप्ताह के भीतर कार्य शुरू किया जाए।

डीडीएमए द्वारा अवगत कराया गया कि गरूड चटटी पैदल मार्ग के आंगणन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। जिस सम्बंध में जिलाधिकारी ने डीडीएमए को निर्देशित किया कि जल्द ही सभी औपचारिताएं पूर्ण कर निर्माण कार्य शुरू किया जाय। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गरूडचट्टी से केदारनाथ तक मार्ग पर बर्फ हटाने का कार्य भी शुरू किया जाय ताकि मार्ग सुधारीकरण कार्य शुरू किए जा सके।

केदारनाथ धाम में राजस्थानी कारगीरों द्वारा पत्थर तोडने का कार्य गतिमान है। इस सम्बंध में जिलाधिकारी ने डीडीएमए को कारीगरों की संख्या और बढाने के साथ ही अपील की कि उत्तराखण्ड के कारीगर भी इस कार्य में अपनी भागीदारी करें ताकि जल्द से कार्य पूर्ण हो सके। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि एमआई-26 हैलीपैड से मंदाकिनी-संरस्वती संगम तक पैदल मार्ग का निर्माण भी तेजी से किया जाय।

उन्होंने कहा कि पैदल मार्ग का निर्माण प्राथमिकता के आधार पर जल्द से जल्द पूर्ण किया जाएगा, ताकि आवाजाही में कोई दिक्कतें ना हो। जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी यात्राकाल शुरू होने से पूर्व केदारनाथ में गतिमान पुनर्निर्माण कार्यों को पूर्ण कर लिया जाएगा। इस मौके पर जेएसडब्ल्यू ग्रुप के आर्किटेक्ट निकुल शाह, उपजिलाधिकारी ऊखीमठ, चौकी इंचार्ज विपिन पाठक मौजूद थे।

PropellerAds