udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news डीएम की प्रेरणा से छात्रों को दी जा रही कोचिंग ,जिलाधिकारी के प्रयासों की सराहना

डीएम की प्रेरणा से छात्रों को दी जा रही कोचिंग ,जिलाधिकारी के प्रयासों की सराहना

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रुद्रप्रयाग। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की प्रेरणा से राइंका अगस्त्यमुनि में विज्ञान वर्ग के कक्षा 11 के छात्र छात्राओं के लिए इंजीनियरिंग एवं मेडिकल में प्रवेश के लिए तैयार के लिए निःशुल्क कोचिंग क्लासेस प्रारम्भ की गई है, जिसका लाभ विभिन्न विद्यालयों के 75 छात्र छात्राओं को मिल रहा है। राइका अगस्त्यमुनि में हो रहे इस अभिनव प्रयोग को न केवल छात्रों ने हाथों हाथ लिया है, बल्कि अभिभावकों ने इसका स्वागत करते हुए शिक्षकों सहित जिलाधिकारी का आभार प्रकट किया है।

 

जनपद में जिलाधिकारी का कार्यभार सम्भालते ही मंगेश घिल्डियाल ने शिक्षा की बेहतरी को अपनी प्राथमिकता में रखा। उन्होंने जनपद के छात्र छात्राओं को प्राथमिक स्तर से ही प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने का बीड़ा उठाया है। प्राथमिक स्तर पर जहां छात्र छात्राओं को सैनिक स्कूल एवं नवोदय विद्यालयों में प्रवेश हेतु तैयारी कराई जा रही है वहीं माघ्यमिक स्तर पर उन्हें इन्जीनियरिंग एवं मेडिकल परीक्षाओं की तैयारी तथा स्नातक स्तर पर आईएएस एवं पीसीएस की तैयारी के लिए माहौल बनाया जा रहा है।

 

माध्यमिक स्तर पर स्थानीय विद्यालयों के छात्र छात्राओं को इन्जीनियरिंग एवं मेडिकल की तैयारी के लिए निःशुल्क कोचिंग दिलाने की जिलाधिकरी की सोच को मूर्त रूप दिया राइका अगस्त्यमुनि के प्रधानाचार्य जेपी चमोला ने और इसमें उनका साथ दिया विद्यालय के शिक्षकों ने। धीरे धीरे आस पास के विद्यालयों के शिक्षको ंने भी इस नेक काम में अपना सहयोग दिया। और अक्टूबर प्रथम सप्ताह से राइका के एक कक्ष में विद्यालय समय के बाद सांय चार बजे से पांच बजे तक निःशुल्क कोचिंग क्लासेस प्रारम्भ की कई।

 

धीरे धीरे छात्र संख्या बढ़ने से इसे दो कक्षों में चलाया जाने लगा। सप्ताह के पहले दो दिनो ंमें भौतिक विज्ञान, अगले दो दिनो ंमें रसायन विज्ञान तथा अन्तिम दो दिनो ंमें गणित एवं जीवविज्ञान की कोचिंग दी जाती है। छात्र छात्राओं को एनसीआरटी के सिलेबस के अनुसार पढ़ाया जाता है। इसके साथ कोचिंग के क्षेत्र में जाना माना नाम आकाश कोचिंग इन्सीटीट्यूट के पैटर्न पर छात्रों को प्रोजेक्टर के माध्यम से भी पढ़ाया जाता है, जिसकी व्यवस्था जिलाधिकारी ने की है।

 

निःशुल्क कोचिंग क्लास का फायदा राइका अगस्त्यमुनि, राबाइका, गौरी मेमोरियल इण्टर कालेज, अगस्त्य पब्लिक इण्टर कालेज, चिल्ड्रन एकेडमी, विद्या मन्दिर तथा केन्द्रीय विद्यालय के छात्रा छात्रायें ले रही हैं जबकि कोचिंग देने में राइका अगस्त्यमुनि के प्रवक्ता रवीन्द्र सिंह पंवार एवं जगदीप बिष्ट, राबाइका से लक्ष्मी रावत एवं माहेश्वरी रावत, चन्द्रापुरी से बृजापति चमोली, मणिगुह से अनिल रावत, काण्डा से हर्षवर्धन रावत, तिलकनगर से श्रीकान्त काला, जाखाल से शैलेन्द्र नेगी, मयाली से दिनेश शुक्ला तथा पीजी कालेज अगस्त्यमुनि से डॉ नवीन खण्डूरी, डॉ पंकज बहुगुणा, डॉ हरिओम बहुगुणा एवं कमलापति चमोली अपना सहयोग दे रहे हैं।

 

राइका अगस्त्यमुनि के प्रधानाचार्य जेपी चमोला ने बताया कि पहले इसके लिए प्रत्येक विद्यालयों के टॉप पांच छात्र छात्राओं को कोचिंग देने का निश्चय किया गया था। परन्तु छात्रों की उत्सुकता एवं शिक्षकों की उपलब्धता को देखते हुए इसे सभी के लिए कर दिया गया है। अभी दो कक्षो ंमें क्लासेस चल रही हैं। आवश्यकता पड़ी तो इसे बढ़ाया जायेगा।

 

उन्होंने कोचिंग देने वाले उन शिक्षकों का आभार जताया जिन्होंने अपना अतिरिक्त समय इस नेक काम के लिए देकर जिलाधिकारी महोदय की सोच को पंख लगाये और इसे धरातल पर उतारा। जिलाधिकारी द्वारा प्रारम्भ की गई इस अभिनव पहल का अभिभावकों ने स्वागत करते हुए कहा कि इससे न केवल छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने में मदद मिलेगी बल्कि इण्टर परीक्षा की तैयारी भी अच्छी तरह हो जायेगी। इसके साथ ही उन्हें न केवल भारी भरकम कोचिंग फीस से मुक्ति मिली है बल्कि अपने पाल्यों को कोचिंग के लिए घर से दूर भी नहीं भेजना पड़ रहा है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •