... ...
... ...

दरिंदगी : पहले की मासूम बच्ची की हत्या,फिर किया शव के साथ किया रेप !

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फरीदाबाद: दरिंदगी : पहले की मासूम बच्ची की हत्या,फिर किया शव के साथ किया रेप ! ऐसी दरिंदगी के बारे में सुनकर आज भी गुस्से से लाल हो गए होंगे। देश में बलात्कार की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। इसको रोकने में सरकार और पुलिस प्रशासन नाकाम ही रहा है। यह घटना भी देश को शर्मसार करने वाली है।

 

खबरों के मुताविक, 5 साल की बच्ची के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार करते हुए उसकी हत्या कर शव से रेप करने के मामले में पुलिस एक युवक को गिरफ्तार किया है। यह मामला थाना सराय ख्वाजा इलाके में सामने आया है। युवक बच्ची के चाचा का जानकार बताया गया है। 21 अप्रैल की रात को आरोपी ने बच्ची के चाचा के साथ शराब पी और रात में उसका मोबाइल व रुपये लेकर भाग गया, लेकिन नीयत बिगड़ने पर वह लौटा और बच्ची को सोते वक्त अगवा कर सुनसान इलाके में ले गया।

 

 

उसके रोने पर आरोपी ने बच्ची की गला घोंटकर हत्या कर दी। उसका इतने से ही मन नहीं भरा। बच्ची के मरने के बाद उसने रेप किया और शव को वहीं छोड़कर फरार हो गया। फिलहाल पुलिस ने आरोपी को गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है और उसकी निशानदेही पर शव को एनएचपीसी के पास झाड़ियों से बरामद किया है। शव की हालत ठीक नहीं होने पर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए रोहतक भेज दिया गया।

 

पुलिस के मुताबिक बदरपुर बॉर्डर के पास एक कॉलोनी निवासी एक पीड़ित व्यक्ति ने बताया कि उसकी पत्नी कई साल पहले उसे छोड़ कर अपने मायके चली गई, जिसके बाद वह 5 साल की बेटी के साथ बहन के घर में रहकर अपना गुजारा करता है जबकि उसके पिता और छोटा भाई सराय ख्वाजा इलाके में रहते हैं। पिता रेहड़ी लगाता है। रोजाना वह दिन के समय अपनी 5 साल बेटी को पिता की दुकान पर छोड़कर काम पर चला जाता है और शाम को लौटते समय उसे अपने साथ लेकर बहन के घर आ जाता है।

 

21 अप्रैल को वह बेटी को लेने के लिए नहीं जा पाया था, जिसके उसकी बेटी रात को दादा के साथ दुकान के पास ही सो गई थी। सुबह उसके पिता उठे तो बच्ची गायब थी। उसी दौरान उसके भाई को पता चला कि उसकी जेब से करीब 1500 रुपये और मोबाइल फोन भी गायब है। इसके अलावा रात को भाई के पास सोया उसका दोस्त भी गायब था। पिता और भाई के बताने पर उसने बच्ची की तलाश शुरू कर दी। पता न चलने पर उन्होंने पुलिस को शिकायत दे दी। पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

 

 

जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि घटना से करीब 15 दिन पहले बच्ची का चाचा सुबह काम पर जा रहा था। तभी रास्ते में उसे 32 साल का एक युवक मिला। युवक ने उसे बताया कि वह मूलरूप से इटावा का रहने वाला और गाजियाबाद में रहकर काम की तलाश कर रहा है। युवक के कहने पर बच्ची के चाचा ने उसे काम दिलवा दिया जिसके बाद युवक ने उनके घर में आना-जाना शुरू कर दिया। 21 अप्रैल की रात को भी युवक ने उसके साथ घर में बैठ कर शराब पी थी। सुबह उठने पर पता चला कि उसकी भतीजी के साथ-साथ उसकी जेब से रुपये, मोबाइल फोन भी गायब हैं, जिसके बाद उस युवक पर बच्ची को अगवा करने का शक हुआ।

क्राइम ब्रांच टीम ने बच्ची के चाचा के मोबाइल लोकेशन के बारे में पता लगाना शुरू कर दिया। जांच के दौरान मंगलवार को पुलिस को मोबाइल की लोकेशन गाजियाबाद में मिली। इसके बाद क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम गाजियाबाद पहुंच गई। पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपी युवक को मोबाइल फोन के साथ दबोच लिया और हिरासत में लेकर यहां ले आई। यहां पूछताछ के दौरान युवक ने पुलिस को बताया कि वह पहले मोबाइल और रुपये चुरा कर वहां से चला गया था, लेकिन रात नीयत में खोट आने पर दोबारा पहुंचकर बच्ची का अपहरण कर ले गया था।

पुलिस पूछताछ में आरोपी युवक ने बताया कि वह सोती हुई बच्ची को गोद में उठाकर करीब डेढ़ किलोमीटर दूर एनएचपीसी के नजदीक नहर के पास झाड़ियों ले जा रहा था। झाड़ियों से गुजरने के कारण बच्ची की नींद खुल गई और वह रोने लगी। पकड़े जाने के डर से उसने झाड़ियों के बीच पहुंचकर गला घोंटकर बच्ची को मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं उसने बच्ची के शव के साथ रेप भी किया। इसके बाद युवक ने बच्ची के शव को वहीं पर छोड़ दिया और मौके से फरार हो गया था।

 

बच्चियों के साथ बढ़ती रेप की घटनाओं के बाद से शहर में नाबालिगों की सुरक्षा पर सवालिया निशा उठ खड़ा हुआ है। इस साल में 25 अप्रैल तक 33 बच्चियों के साथ दरिंदगी और रेप के मामले सामने आ चुके हैं। इनमें पुलिस ने 25 आरोपितों को अरेस्ट कर लिया गया है। वहीं बीते साल के आंकड़ों पर गौर करें तो हर साल नाबालिग से दुष्कर्म के केस बढ़ रहे हैं। पुलिस के मुताबिक यह अपराध ज्यादातर जानकार कर रहे हैं। इनमें भी अधिकतर वे हैं जो नशे के आदी हैं।

 

 

सेंट्रल जोन के एसीपी यशपाल खटाना ने बताया कि बच्ची का शव खराब हो जाने के कारण उसे पोस्टमॉर्टम के लिए पीजीआई रोहतक भेजा गया है। पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट आने पर रेप की पुष्टि हो सकेगी। हत्या, रेप व पॉक्सो ऐक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को अरेस्ट कर कोर्ट में पेश कर दिया गया है। कोर्ट ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

Loading...