udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news चारो दिशाओं में बरसेगा इन राशि वालों पर पैसा, चमकेगा भाग्य !

चारो दिशाओं में बरसेगा इन राशि वालों पर पैसा, चमकेगा भाग्य !

Spread the love
  • 18
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    18
    Shares

उदय दिनमान डेस्कः चारो दिशाओं में बरसेगा इन राशि वालों पर पैसा, चमकेगा भाग्य !पौष महीने का अंतिम दिन पूर्णिमा का होता है और इस दिन महास्नान की संभावना बनती है. पौष पूर्णिमा पर दुनिया भर में लोग पवित्र नदियों में स्नान करते हैं. पौष का महीना सूर्यदेव का माना जाता है और पूर्णिमा की तिथि चंद्रमा की तिथि होती है. सूर्य और चंद्रमा का ऐसा अद्भुत संयोग पौष पूर्णिमा को ही मिलता है. इस दिन सूर्य और चंद्र की उपासना से तमाम मनोकामनाएं पूरी की जा सकती हैं.

पूर्णिमा यानि पूर्णो मा:. मास का अर्थ होता है चंद्र. अर्थात जिस दिन चंद्रमा का आकार पूर्ण होता है उस दिन को पूर्णिमा कहा जाता है. हर माह की पूर्णिमा पर कोई न कोई त्योहार अवश्य होता है. लेकिन पौष और माघ माह की पूर्णिमा का अत्यधिक महत्व माना गया है, विशेषकर उत्तर भारत में हिंदुओं के लिए यह बहुत ही खास दिन होता है.वर्ष 2018 में वैसे तो पूर्णिमा तिथि का आरंभ 01 जनवरी से हो रहा है लेकिन जिस समय तिथि की शुरुआत हो रही है उससे पहले ही सूर्योदय हो चुका है. इसलिये विद्वान के मतानुसार पौष पूर्णिमा अगले दिन सूर्योदय से मानी जायेगी.

इस प्रकार 2018 में पौष पूर्णिमा 2 जनवरी, मंगलवार को है. पवित्र माह माघ का स्वागत करने वाली इस मोक्षदायिनी पूर्णिमा पर प्रभु भक्ति व स्नान ध्यान, दानादि से पुण्य कमायें.पौष माह की पूर्णिमा को मोक्ष की कामना रखने वाले बहुत ही शुभ मानते हैं. क्योंकि इसके बाद माघ महीने की शुरुआत होती है. माघ महीने में किए जाने वाले स्नान की शुरुआत भी पौष पूर्णिमा से ही हो जाती है. मान्यता है कि जो व्यक्ति इस दिन विधिपूर्वक प्रात:काल स्नान करता है वह मोक्ष का अधिकारी होता है.

उसे जन्म-मृत्यु के चक्कर से छुटकारा मिल जाता है अर्थात उसकी मुक्ति हो जाती है. चूंकि माघ माह को बहुत ही शुभ व इसके प्रत्येक दिन को मंगलकारी माना जाता है इसलिए इस दिन जो भी कार्य आरंभ किया जाता है उसे फलदायी माना जाता है. इस दिन स्नान के पश्चात क्षमता अनुसार दान करने का भी महत्व है.पौष पूर्णिमा से ही माघ स्नान शुरू हो जाते हैं. माघ महीने में पुण्यतोया नदियों में स्नान का विशेष महत्व बताया गया है. ऐसा कहा जाता है कि मृत्युलोक में जिन्हें स्वर्गप्राप्ति की इच्छा है, उन्हें माघ के पूरे महीने में नदियों में स्नान करना चाहिए.

मेष: महत्वपूर्ण काम बिगड़ेंगे। मानसिक उदासी और खिन्नता रहेगी। कार्यों में रुकावटें आएंगी। उत्साह भंग होगा। स्वास्थ्य भी नरम रहेगा।

वृष: उत्साहवर्धक समाचार मिलेंगे। कारोबार में वृद्धि होगी। कार्यक्षेत्र में तरकीबें सफल होंगी। धन लाभ होगा। अकस्मात व्यय से परेशानी होगी।

मिथुन: पराक्रम में वृद्धि होगी। व्यावसायिक यात्रा अनुकूल रहेगी। रचनात्मक प्रयास में इच्छित सफलता मिलेगी। सामाजिक यश बढ़ेगा।

कर्क: व्यवसाय संबंधित प्रयास में कठिनाई आएगी। प्रतिद्वंदी नरम पड़ेंगे। सजग होकर सही मौके का इंतजार करें। मुसीबतों से बाहर निकलेंगे।

सिंह: लंबित सरकारी काम निपटेंगे। शेयर बाजार में मुनाफे से एक्स्ट्रा इनकम होगी। अनिश्चितता त्यागें। शोर्टकट नुकसान देंगे।

कन्या: रोजगार में तारीफ हासिल होगी। अधिकारियों द्वारा पेचीदा काम मिलेगा। आसानी से तरक्की पाएंगे। जोखिम उठाने से लाभ होगा।

तुला: परिजनों की डिमांड पूरी करने हेतु आर्थिक बोझ उठाना पड़ेगा। अकस्मात समस्या सुलझ जाएगी। अज्ञात कारण से चिंतित रहेंगे।

वृश्चिक: सामाजिक कार्य हेतु योगदान देंगे। मांगलिक कार्यों हेतु योगदान देंगे। असहायों की सहायता करेंगे। सेवा का तत्काल फल मिलेगा।

धनु: गैर-सरकारी संस्था से जुड़ेंगे। कारगर व्यक्ति से भेंट होगी। योग्य व्यक्ति समस्याओं को सुलझाएगा। जन संपर्क उपयोगी सिद्ध होगा।

मकर: इमोशनल इच्छाओं की पूर्ती होगी। रिलेशनशिप में पार्टनर से मुलाकात सौगात लेकर आएगी। प्रेम संग प्रोफैशन पर भी ध्यान दें।

कुंभ: विरोधियों से झड़प होगी। दिन बेकार सिद्ध होगा। आसपास के बिगडे़ हुए कार्य सुधारने का प्रयास करेंगे। शाम को जल्द ही घर लौटेंगे।

  •  
    18
    Shares
  • 18
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •