udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news चार धाम जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बना सकती है रेकॉर्ड

चार धाम जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बना सकती है रेकॉर्ड

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली। अमरनाथ और चार धाम यात्रा पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विशेष ध्यान देने से इस वर्ष इन यात्राओं पर जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या मौजूदा सरकार के कार्यकाल के दौरान सबसे अधिक रहने की उम्मीद है। 28 जून से शुरू होने वाली दो महीने की अमरनाथ यात्रा के लिए अग्रिम पंजीकरण अब तक दो लाख से अधिक हो चुका है।

इसका एक कारण जम्मू और कश्मीर में गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (त्रस्ञ्ज) लागू होने से हेलिकॉप्टर का किराया सस्ता होना है। राज्य में हेलिकॉप्टर सर्विस पर लगने वाला टैक्स अब 12 पर्सेंट से घटकर 5 पर्सेंट हो गया है और एक तरफ का हेलिकॉप्टर का किराया घटकर 1,600 रुपये रह गया है। अमरनाथ गुफा पहुंचने के लिए लगभग 40,000 श्रद्धालुओं ने हेलिकॉप्टर का टिकट खरीदा है।

सूत्रों से पता चला है कि यात्रा के पहले तीन सप्ताह के लिए हेलिकॉप्टर के सभी टिकट बिक चुके हैं। अप्रैल से अक्टूबर तक चलने वाली चार धाम यात्रा के लिए श्रद्धालुओं की संख्या पिछले दो महीनों में 20 लाख को पार कर गई है। यह 2017 का रेकॉर्ड तोड़ सकती है, जब लगभग 22 लाख श्रद्धालुओं ने उत्तराखंड में चार तीर्थस्थलों की यात्रा की थी। चार धामों में से एक केदारनाथ मंदिर के कपाट 29 अप्रैल को खुले थे और तब से लगभग 6.15 लाख लोग मंदिर में आ चुके हैं।

पिछले वर्ष यात्रा के पूरे सीजन के दौरान करीब 4.17 लाख श्रद्धालु केदारनाथ आए थे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, प्रधानमंत्री को 10 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के केदारनाथ पहुंचने की उम्मीद है, यह संख्या पिछले वर्ष की तुलना में दोगुनी से अधिक होगी। उन्होंने मंदिर के पुनर्निमाण की व्यक्तिगत तौर पर निगरानी की है।

चार धाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या प्रत्येक वर्ष मॉनसून के दौरान घट जाती है और इस वजह से आने वाले सप्ताहों में संख्या बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। चार धाम यात्रा शुरू होने से पहले हाल ही में एक प्रगति समीक्षा मीटिंग में प्रधानमंत्री ने चारों धाम- केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री और उनके आसपास मौजूद इंफ्रास्ट्रक्चर की ड्रोन से ली गई वीडियो फुटेज के जरिए निगरानी की थी।

अमरनाथ और केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं की अभी तक की सबसे अधिक संख्या यूपीए की पिछली सरकार के दौरान 2011 में रही थी। उस वर्ष लगभग 6.3 लाख श्रद्धालुओं ने अमरनाथ और करीब 5.7 लाख श्रद्धालुओं ने केदारनाथ की यात्रा की थी। केदारनाथ पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या का रिकॉर्ड इस वर्ष पहले ही टूट चुका है।

अमरनाथ गुफा पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 2014 में 3.7 लाख थी, लेकिन 2016 में आतंकवादी बुरहान वानी को सुरक्षा बलों की ओर से मार गिराए जाने के बाद कश्मीर में हुए विरोध प्रदर्शनों से इस यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या घटकर 2.2 लाख रह गई थी। पिछले वर्ष जम्मू-श्रीनगर नैशनल हाइवे पर यात्रियों की एक बस को निशाना बनाकर किए गए आतंकवादियों के हमले के बावजूद यह संख्या बढक़र 2.6 लाख रही थी।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •