भूलकर भी तीन बार इसका नाम मत लेना,वरना…!- देखे वीडियो

उदय दिनमान डेस्कः भूलकर भी तीन बार इसका नाम मत लेना,वरना…! आप जीवन प्रयंत खौफ के साये में रहोगे। खासकर इसे बच्चों को न दिखाएं वरना आपके बच्चों को सदमा लग सकता है। यह कहानी और वीडियो यहां साभार लेकर दिया जा रहा है और यह कहानी एक सच्ची घटना पर आधारित है।

चलिए आपको बताते हैं कि आखिर क्या है यह कहानी। वैसे ये कोई कहानी नहीं है मै इसमें आपको एक डायन के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसका नाम लोग bloody mary बताते है। इसने यूरोप देश में अपने ख़ौफ का आतंक मचा रखा था। सबसे अनोखी बात तो ये है कि आप इस डायन को आज भी अपने सामने बुला सकते है। उसका तरीका में आपको नीचे बताऊँगा। तो इस कहानी को पूरा पढियेगा।

पहले ज़माने में यूरोप देश में एक प्रथा होती थी। जिसमे एक कुँवारी लड़की को अंधेरे में हाथ में एक ऐनक और दूसरे हाथ में एक मोमबत्ती लेना होता था। और उस ऐनक और मोमबत्ती को ले कर सीढियो पर उल्टा चलना होता था। सीढियो पर उल्टा चलते वक़्त उस लड़की को अपने शिशे (ऐनक) में देखना होता था। माना जाता था कि इस प्रक्रिया के वक़्त लड़की को उस ऐनक में अपने होने वाले पति का चेहरा दीखता था

ये माना जाता था कि उसका विवाह और जीवन अच्छा जायेगा अगर इसी प्रक्रिया में किसी लड़की को कोई कंकाल या खून से लथपथ कोई व्यक्ति दीखता है तो मना जाता है कि विवाह से पेहले ही पति या उस लड़की की मौत हो जाती है। जो बहुत बुरा संकेत माना जाता था। लेकिन विवाह करने से पहले यूरोप में इस प्रथा को अवश्य करना होता था।

कहा जाता है कि एक marry नाम की औरत भी इसी प्रथा से गुजरी परंतु उसको अपने ऐनक में एक कंकाल दिख गया वो समझ गई की अब उसका जीवन बर्बाद हो जाएगा। इसी दुःख में उसने अपनी जान देदी।अब कहानी कुछ भी हो पर एक तथ्य है कि आज भी कोई रात के 3 बजे जिसे भूत प्रेतों का समय कहा जाता है उस वक़्त कोई शीशे के सामने खड़ा हो जाए और हाथ में एक मोमबत्ती ले कर शिशे में देखते हुए तीन बार अगर “bloody mary” कहेगा तो उसकी आत्मा उसको शिशे में दिखने लगती है।

बहुत लोग कहते है कि उन्होंने भी ब्लडी मैरी को दखने के लिए ऐसा किया और उनको ऐनक में एक खून से लथपथ एक भयानक डायन दिखी।बहुत से लोगो के साथ बुरी घटना भी घाटी है।आप इसके बारे में YouTube में भी देख सकते है। अगर आप ये सोच रहे है कि क्यों न मै भी ऐसा करने की सोचु तो मै आपको ऐसा करने के लिए मना करूँगा। अब मुझको ये तो नहीं पता की ये बाते सच है कि नहीं। science इसको दिमाग का धोखा मानता है।

आप सभी से अनुरोध है कि वीथ्डयों में दी गयी और बताई गयी बातों पर विश्वास न करें इसे मात्र मनोरंजन के लिए ही देखे और बच्चों को इससे दूर रखे। यह कहानी इंटरनेट पर वायरल हो रही थी तो इसे साभार लेकर यहां दिया जा रहा है।

 

PropellerAds