बेहतर तरीके से कार्य करने पर मिलेगी नई पहचान: मंगेश

रुद्रप्रयाग। दीनदयाल अन्तोदय योजना राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूहों का एक दिवसीय अभिमुखीकरण प्रशिक्षण कार्यशाला विकासखण्ड ऊखीमठ सभागार में सम्पन्न हुआ।

 

प्रशिक्षण कार्यशाला मंे प्रोजेक्टर के माध्यम से स्वयं सहायता समूह को जानकारी दी गयी। इस अवसर पर जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि प्रशिक्षक का मुख्य उद्देश्य स्वयं सहायता समूहों को मजबूत करना है। कहा कि स्वयं सहायता समूह यदि बेहतर तरीके से कार्य करें तो आने वाले समय में स्वरोजगार की दिशा में नई पहचान बना सकते हैं।

 

कार्यशाला में उपस्थित स्वयं सहायता समूह को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि जनपद में मिशन के तहत विकासखण्ड ऊखीमठ को चयनित किया गया था। कहा कि सरकार का मुख्य फोकस स्वयं सहायता समूूहों को यह बताना है कि किस तरह से वे अपनी आजीविका को मजबूत कर सकते हैं।

 

कहा कि समूह से कई प्रकार के फायदें हैं। छोटी रकम से बडे़-बडे़ कार्य किए जा सकते है और समूह में ही शक्ति और बचत भी है। कहा कि जो जमीन बंजर है उसे उपज के लिए स्वयं सहायता समूहों को उपजाऊ के लिए सब्जी, मुर्गी पालन, नर्सरी फलदार पेड़ उगाने से लाभ होगा। स्वयं सहायता समूह द्वारा नर्सरी में उगाये गये फलदार पौधों को उद्यान विभाग खरीदेगा। इसलिए नर्सरी के जरिये भी अपनी आजीविका को और अधिक बेहतर किया जा सकता है।

 

जिलाधिकारी ने कहा कि समूह द्वारा बैक में जमा किये गये पैंसे का उपयोग समूह का हर सदस्य कर सकता है। यदि किसी को बच्चों की पढ़ाई या फिर अन्य कार्य के लिए पैंसे की आवश्यकता है तो वह समूह का सदस्य होने के नाते इस पैंसे का उपयोग कर सकता है, जिसे वह धीरे-धीरे किश्त द्वारा जमा करेगा।

 

इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक मनोज रावत ने कहा कि जिले में तमाम प्रकार के स्थानीय उत्पाद है, लेकिन आज भी वह लोगों की आजीविका से नहीं जुड़ पाए। माल्टा, बुरांश का जूस, मडुआ, चौलाई सहित कई ऐसे उत्पाद है जो समूहों केा अच्छा स्वरोजगार दे सकते हैं, लेकिन अभी तक इस ओर बेहद कम दिलचस्पी दिख रही है।

 

उन्होंने कहा कि समूह स्थानीय उत्पादों के जरिए अपनी आजीविका को मजबूत करें और जिले के विकास में अहम योगदान दें। इस अवसर पर प्रमुख संतलाल शाह, ज्येष्ठ प्रमुख विष्णुकांत, उप जिलाधिकारी गोपाल सिंह चौहान, मुख्य कृषि अधिकारी आरपीएस रावत, खण्ड विकास अधिकारी उखीमठ बीसी शुक्ला सहित स्वयं सहायता समूहों के पदाधिकारी व सदस्य मौजूद थे।

PropellerAds