बदरीनाथ धाम : मार्ग पर तैयारियों पर मौसम की पड़ रही मार

चमोली। मौसम की मार का असर बदरीनाथ की यात्रा तैयारियों पर भी पड़ रहा है। बदरीनाथ धाम सहित हाईवे पर यात्रा तैयारियों को लेकर चल रहे कार्यों को बार-बार रोकना पड़ रहा है।

 

सडक़ पर गड्ढा भरना हो या भूस्खलन जोन बारिश के कारण इन कार्यों में देरी हो रही है। ऐसे में यात्रा सीजन के दौरान यात्रियों को मुसीबतों से दो-चार होना पड़ सकता है।

 

बता दें कि भगवान बदरीविशाल धाम के कपाट 30 अप्रैल को खुलने हैं। प्रशासन ने 20 अप्रैल तक सभी तैयारियां सुचारु करने की डेडलाइन तय की है। बदरीनाथ धाम में पानी, रास्ता निर्माण, मंदिर में रंग-रोगन सहित अन्य कार्य इन दिनों युद्ध स्तर पर चल रहे हैं।

 

बदरीनाथ हाईवे पर भी यात्रा पड़ावों में पेयजल, हाईवे पर गड्ढा भरने सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं को सुचारु रखने के कार्य हो रहे हैं। हालांकि आए दिन मौसम के बदले मिजाज से काम को रोकना पड़ रहा है। इससे निर्माण कार्य में लगे लोगों, विभागों व प्रशासन की बेचैनी बढ़ रही है।

 

बदरीनाथ धाम तक सकुशल यात्रा के लिए बदरीनाथ हाईवे पर हमेशा मुसीबत का सबब बने भूस्खलन जोन परथाडीप नंदप्रयाग, मैठाणा, पातालगंगा, लामबगड़ सहित अन्य भूस्खलन जोनों पर स्थाई ट्रीटमेंट कार्य चल रहा है।

यात्रा से पहले अधिकतर भूस्खलन जोन में कार्य पूरा कर सडक़ को पक्का बनाने के लिए प्रशासन ने एजेंसी को डेडलाइन दी है। लेकिन बारिश के चलते प्रशासन की तय सीमा पर काम पूरा होगा। इसमें संशय बरकरार है।

श्री बदरीनाथ धाम की यात्रा को लेकर अब सिर्फ 17 दिन शेष बचे हुए हैं। लेकिन बदरीनाथ की व्यवस्थाओं की जमीनी हकीकत देखने अभी तक प्रशासन भी मौके पर नहीं पहुंचा है। बदरीनाथ यात्रा प्रशासन के लिए एक बड़ी चुनौती रही है।

 

यही कारण रहा कि हर बार एक माह पूर्व ही प्रशासन यात्रा तैयारियों को देखने बदरीनाथ धाम पहुंच जाता था और अधिकारियों को मौके पर ही दिशा-निर्देश देकर प्रतिदिन तैयारियों का काउंटडाउन होता था। लेकिन इस बार अभी तक जिला प्रशासन ने बदरीनाथ तक जाकर यात्रा व्यवस्थाओं की जमीनी हकीकत देखने की जहमत नहीं उठाई है।

 

श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के सीईओ, बीडी सिंह के मुताबिक बदरीनाथ में यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर मंदिर समिति युद्ध स्तर पर कार्य करने पर जुटी है। समय पर सभी यात्रा व्यवस्थाएं पूर्ण कर दी जाएंगी। बदरीनाथ मंदिर में रंग रोगन का कार्य चल रहा है। विद्युत पहले ही सुचारु कर दी गई है।

PropellerAds