udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news अनोखा रिकॉर्ड : ऑस्ट्रेलिया की ऐतिहासिक जीत में मार्श भाइयों का !

अनोखा रिकॉर्ड : ऑस्ट्रेलिया की ऐतिहासिक जीत में मार्श भाइयों का !

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सिडनी। आखिरी टेस्ट मैच भीऑस्ट्रेलिया ने जीत कर एशेज सीरीज 4-0 से अपने नाम करके खत्म की. सिडनी टेस्ट में इंग्लैंड के पास अपना सम्मान बचाने के एक मौका था लेकिन उसकी टीम वो जुझारुपन भी नहीं दिखा सकी, जिसकी वजह से ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को पारी और 123 रन से हरा दिया. इस मैच में कुल तीन शतक लगे और तीनों ही ऑस्ट्रेलिया के ओर से थे. वहीं इंग्लैंड की ओर से सबसे ज्यादा रन कप्तान जो रूट रहे जिसमें पहली पारी के 83 रन ओर दूसरी पारी के 58 रन रहे.

टेस्ट से पहले माना जा रहा था कि पिच पर्थ, एडिलेड या ब्रिसबेन की तरह तेज नहीं होगी, लेकिन इससे कोई फर्क पडऩे वाला नहीं था. एक तरफ शानदार बैटिंग फॉर्म में कंगारू टीम थी तो दूसरी ओर लडख़ाड़ाती बल्लेबाजी के साथ इंग्लैंड थी.टॉस इंग्लैंड ने जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया.

टीम की बल्लेबाजी की शुरुआत तो ठीक रही लेकिन इंग्लैंड का कोई भी बल्लेबाज लंबी पारी नहीं खेल सका केवल कप्तान जो रूट और डेविड मलान ही 50 का स्कोर पार सके, लेकिन उसे बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे. रूट ने 83 रन तो मलान 62 रन बनाकर आउट हुए. इसके बाद एलिस्टर कुक, मोईन अली, स्टुअर्ट ब्रॉड और टॉम कुरैन ही 30 पार कर सके जबकी स्टोनमैन और जेम्स विंसे ने 24 और 25 रन बनाए. इस तरह से इंग्लैंड ने पहली पारी में सम्मानजनक 346 रन बना सकी.

ऑस्ट्रेलिया की ओर से पैट कमिंग्स चार विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे और मिचेल स्टार्क और जोश हेजलवुड ने दो दो विकेट लिए. नाथन लायन के नाम एक ही विकेट रहा. इस टेस्ट में पहली बार ऑस्ट्रेलिया को बड़ी बढ़त का पीछा करने को मिला. लेकिन कंगारू बल्लेबाजों ने बता दिया कि उनकी टीम ने इंग्लैंड को यूं ही पहले तीन टेस्ट मैचों में नहीं हराया है.

उसमान ख्वाजा के 171 रन, शॉन मार्श के 156 रन ओर मिचेल मार्श के 101 रन की बदौलत टीम बड़ा स्कोर बनाने में कामयाब हो सकी. इसके अलवा डेविड वार्नर ने 56 और कप्तान स्टीव स्मिथ ने 83 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया ने सात विकेट खोकर 649 रन बनाए जिसके बाद स्टीव स्मिथ ने पारी घोषित कर इंग्लैंड पार 303 रन की बढ़त ले ली.

इंग्लैंड के पास अब दोहरा लक्ष्य था. पहले तो उसे पारी की हार टालनी थी फिर मैच को भी ड्रॉ कराने की मुश्किल चुनौती थी, लेकिन दूसरी पारी में तो इंग्लैंड की ओर से वह जुझारूपन भी नहीं दिखा जो पहली पारी में दिखा था. चौथे दिन के आखिरी सत्र तक इंग्लैंड ने केवल 93 रन पर ही चार विकेट खो दिए थे.

जिसकी वजह से ऑस्ट्रेलिया को पांचवे दिन केवल छह विकेट ही गिराने दो जो कि उसके चाय से पहले गिरा कर सिडनी टेस्ट की जीत अपने नाम कर ली. हालांकि इसमें इंग्लैंड के कप्तान का जो रूट का विकेट शामिल नहीं था क्योंकि पिछली रात को रूट को डीहाइड्रेशन की के बाद डाइरिया और उल्टियों की शिकायत हुई थी और उन्हें अस्पताल में ले जाना पड़ा था.

रूट सुबह तो बल्लेबाजी करने नहीं आ सके, लेकिन उनकी जगह आए मोईन अली के आउट होने के बाद रूट अपनी पारी पूरी करने वापस आए और अपना अर्धशतक पूरा किया, लेकिन लंच के बाद रूट बल्लेबाजी करने फिर नहीं आ सके और इंग्लैंड की बाकी टीम केवल 180 रन के स्कोर पर ही आउट हो गई और मैच अपनी जीत के साथ खत्म कर दिया.

ऑस्ट्रेलिया की ओर से पैट कमिंग्स ने दूसरी पारी में भी चार, नाथन लॉयन ने तीन, मिचेल स्टार्क और जोश हेजरवुड ने एक-एक विकेट लिया.आठ विकेट लेने वाले पैंट कमिंग्स को मैन ऑफ द मैच बने. वहीं स्टीव स्मिथ को मैन ऑफ द सीरीज के खिताब से नवाजा गया.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •