... ...
... ...

आजीविका एवं कौशल विकास दिवस का आयोजन

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
पौड़ी:  ग्राम स्वराज कार्यक्रम के अन्तिम पखवाड़े में आज विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी सुशील कुमार की अध्यक्षता में पं0 दीनदयाल अन्त्योदय योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत आजीविका एवं कौशल विकास दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा पं0 दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के अन्तर्गत अपोलो मेडीस्किल्स समेत कुछ अन्य संस्थाओं द्वारा जनपद के युवा बेरोजगारों के प्रशिक्षण एवं आवास की सुविधा हेतु 300 लाभार्थियों का लक्ष्य निर्धारित था। जिसके सापेक्ष 151 लाभार्थियों को अभी तक प्रशिक्षण एवं आवास हेतु उक्त संस्थाओं द्वारा पंजीकृत कर  लिया गया है।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने स्वयं सहायता समूहों द्वारा उत्पादित वस्तुओं की प्रदर्शिनी, विभिन्न विभागों द्वारा स्टॉलों के माध्यम से विभागीय जानकारी, बैंकों द्वारा वित्तीय समावेशन की जानकारी, एनआरएलएम, आईफैब, आईएलएसपी व महिला सशक्तिकरण पर चर्चा की गई। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने जनपद के विभिन्न क्षेत्रों के स्वयंसेवी संस्थाओं का आर्थिक विकास किये जाने के लिए समूहों के संसाधनों को बढ़ाये जाने पर जोर दिया।
इस अवसर पर उन्होंने परम्परागत परिवेश का फायदा उठाते हुए कृषि बागवानी के साथ ही मत्स्य, कुक्कुट, भेड़-बकरी आदि पालन को भी अपनी आजीविका से जोड़ने को कहा। उन्होंने बताया कि नीलकंठ क्षेत्र में स्वयंसेवी संस्थाओं को मंदिर के लिए प्रसाद व सामग्री के लिए कपड़े व कागज के बैग तैयार करने को कहा। उन्होंने कहा कि भारत युवा देश है। जिसमें महिलाओं की भी बराबर की भागीदारी है। अब स्वरोजगार के साधनों में महिलायें बढ़चढ़कर कर आगे आ रही हैं। और अपना सामाजिक और आर्थिक विकास कर रही हैं।
कार्यक्रम में जिलाधिकारी द्वारा तेलंगाना राज्य से आयी स्वयंसेवी संस्था की संचालिका अफसर बेगम द्वारा किये गये कार्यों की प्रशंसा की। कार्यक्रम में ग्राम संगठन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 17 संगठनों को स्मृति चिन्ह से भी नवाजा गया। इसके आलावा 13 स्वयं सहायता समूहों को रिवाल्वींग फंड उपलब्ध कराने के स्वीकृति पत्र भी जिलाधिकारी द्वारा दिये गये। कार्यक्रम में पं0 दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण येाजना के तहत पांच आवेदकों को एक-एक लाख रूपये का ऋण के चैक वितरित किये गये। इसके अलावा आरसेटी की ओर से उत्कृष्ट कार्यों के लिए भुवनेश्वरी स्वयंसेवी संस्था के पदाधिकारियांें को प्रशस्ती पत्र एवं शॉल भेंट किया गया।
ग्रामीण कौशल येाजना के अन्तर्गत कुमारी करिश्मा, बीना एवं रेश्मा को डायलीसिस टैक्नीशियन तथा विकास एवं गौरव को जरनल कुक प्रशिक्षण के स्वीकृति पत्र भी जिलाधिकारी द्वारा दिये गये। यहां यह बता दें कि ग्राम स्वराज कार्यक्रम के अन्तर्गत 14 अप्रैल को समरसता न्याया दिवस, 18 को स्वच्छ भारत मिशन कार्यक्रम, 20 को उज्ज्वला दिवस, 24 को पंचायती राज, महिला सशक्तिकरण तथा स्वास्थ्य सेवा का दिवस मनाया गया। जबकि 28 अप्रैल को पंचायत राज व ऊर्जा दिवस, प्रधानमंत्री आवास व सौभाग्य योजना के कार्यक्रम विभिन्न ग्राम पंचायतों में संचालित हुए।
कार्यक्रम के तहत 30 अप्रैल को मिशन इंद्रधनुष के तहत आयुष्मान भारत संबंधी जानकारियां स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई। स्वराज पखवाड़े के तहत 2 मई को 118 न्याय पंचायतों में किसान कल्याण दिवस तथा अंतिम कड़ी में आज 5 मई को आजीविका एवं कौशल विकास दिवस ग्राम्य विकास अभिकरण एवं जिला पंचायत राज विभाग के सौजन्य से आयोजित किया गया। जिसमें जनपद के विभिन्न विकासखंडों की स्वयंसेवी संगठनों के अलावा अपोलो मेडिस्किल्स द्वारा प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम में प्रबंधक ग्रामीण आजीविका मिशन ने उपस्थित स्वयंसेवी समूहों को विभिन्न रेखीय विभाग के अधिकारियों का इस कार्यक्रम में दिये गये सहयोग के लिए आभार जताया। साथ ही आजीविका एवं कौशल विकास के संबंध में राज्य एवं केंद्र सरकार की ओर  से दिये गये दिशा- निर्देशों की भी जानकारी दी।
कार्यक्रम में पौड़ी प्रमुख संतोषी रावत, ज्येष्ठ प्रमुख हरदयाल सिंह पटवाल, मुख्य विकास अधिकारी रवनीत चीमा, डीडीओ वेद प्रकाश, जिला उद्यान अधिकारी डा0 नरेंद्र कुमार, मुख्य कृषि अधिकारी डा0 देवेंद्र सिंह राणा, अर्थ एवं संख्याधिकारी निर्मल कुमार शाह, लीड बैंक अधिकारी नंदकिशोर, मत्स्य अधिकारी अभिषेक मिश्रा समेत विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ ही जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आये स्वयंसेवी संगठनों के पदाधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन भावना पंवार आदि ने किया।
Loading...