udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news आज खुलेंगे द्वितीय केदार भगवान मदमहेश्वर के कपाट

आज खुलेंगे द्वितीय केदार भगवान मदमहेश्वर के कपाट

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

गौंडार गांव में श्रद्धालुओं ने डोली का किया भव्य स्वागत

रुद्रप्रयाग। पंचकेदारों मंे द्वितीय केदार के नाम से विख्यात भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली राकेश्वरी मन्दिर रांसी से प्रस्थान कर अन्तिम रात्रि प्रवास के लिये मदमहेश्वर यात्रा के आधार शिविर गौण्डार गांव पहुंची। आज भगवान मदमहेश्वर की डोली विभिन्न यात्रा पडावों पर श्रद्वालुओं को आशीष देते हुये मदमहेश्वर धाम पहुंचेगी और डोली के धाम पहुंचने पर मन्दिर के कपाट ग्रीष्मकाल के लिये आम श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिये जाएंगे।

ब्रह्नमबेला पर मदमहेश्वर धाम के प्रधान पुजारी शिव शंकर लिंग ने भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली व मदमहेश्वर धाम तक साथ चलने वाले अनेक देवी देवताओं के निशाणों तथा भगवती राकेश्वरी की पंचाग पूजन के तहत अनेक पूजायें समपन्न कर आरती उतारी। ठीक 8 बजे भगवान मदमहेश्वर चल विग्रह उत्सव डोली व साथ चल रहे अनेक देवी देवताओं के निशानों ने भगवती राकेश्वरी के मन्दिर की तीन परिक्रमा की और डोली गौण्डार गांव के लिये रवाना हुई।

दोपहर 12 बजे भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली के गौण्डार गांव पहुँचने पर ग्रामीणों ने चल विग्रह उत्सव डोली का पुष्प अक्षत्रांे से भव्य स्वागत कर अनेक प्रकार की पूज्यार्थ सामाग्रीयों से अर्घ्य लगा कर विश्व कल्याण व क्षेत्र की खुशहाली की कामना की। आज भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली ब्रह्नमबेला पर गौण्डार गांव से प्रस्थान कर बनातोली, खटारा, नानौ, कूनचट्टी, मैखम्भा यात्रा पडावों पर श्रद्वालुओं कों आशीष देते हुये मदमहेश्वर धाम पहुंचेगी तथा डोली के मदमहेश्वर धाम पहुँचने पर मन्दिर के कपाट खोल दिये जायंेगे।

इस मौके पर पूर्व विधायक श्रीमती आशा नौटियाल, सारदा नौटियाल, रमेश नौटियाल, थाना अध्यक्ष होशियार सिंह पंखोली, डॉ कैलाश पुष्वान, डोली प्रभारी बंचन सिंह रावत, भण्डारी मदन सिंह पंवार, आलम सिंह पंवार, विक्रम सिंह पंवार, दीपक नेगी, दर्शनी पंवार, सुन्दर सिंह पंवार, विनोद ंपंवार, मनजीत पंवार, संजय पवार, कन्हैया पंवार, यशोधर पंवार, अभिषेक पंवार, अजय पंवार, अनीष पंवार, फतेसिह पंवार, शिव शरण पंवार, लव पंवार, विकास पंवार, सौरभ पंवार, अनुज पंवार, धर्म पंवार, रायसिंह पंवार, नवीन पंवार, गौरव पंवार, राजेन्द्र पंवार, अमित पंवार, बीरबल पंवार सहित सैकडों श्रद्वालु मौजूद थे।

Loading...

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •