62 साल बाद अश्विन ने बनाया टेस्ट में यह रेकॉर्ड

वेस्ट इंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 7 विकेट लेकर रविचंद्रन अश्विन ने 62 साल बाद रेकॉर्ड बना दिया है। कैरिबियाई आइलैंड में ऐसा कारनामा करने वाले वह भारत के दूसरे बोलर बन गए हैं। उनसे पहले 1953 में लेग स्पिनर सुभाष गुप्ते ने ऐसा किया था।
रिपोर्ट के मुताबिक, एंटिगा टेस्ट की दूसरी पारी में 7 विकेट लेने के बाद अश्विन वेस्ट इंडीज के खिलाफ किसी एक पारी में इतने विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय बोलर बन गए। अश्विन ने जहां 83 रन देकर इस मुकाम को हासिल किया वहीं 62 साल पहले गुप्ते ने 162 रन देकर यह कारनामा किया था। अगर रनों के लिहाज से देखें तो अश्विन का रेकॉर्ड गुप्ते से बढिय़ा है।
गुप्ते ने जनवरी 1953 में पोर्ट ऑफ स्पेन में खेले गए मुकाबले के दौरान यह उपलब्धि हासिल की थी। वेस्ट इंडीज की धरती पर यह उनका पहला टेस्ट मैच था। खास बात यह है कि अश्विन ने भी जब यह मुकाम पाया तो कैरिबियाई जमीं पर यह उनका पहला टेस्ट मैच था। हालांकि यह बात अलग है कि अश्विन के प्रदर्शन से जहां टीम इंडिया को जीत मिली वहीं गुप्ते के रेकॉर्ड के बावजूद वह टेस्ट ड्रॉ हो गया था।
अगर रेकॉर्ड की बात करें तो 24 ऐसे मौके आएं हैं जब बोलर्स ने वेस्ट इंडीज की जमीं पर किसी टेस्ट मैच में सात या ज्यादा विकेट लिए हैं। इंग्लैंड के बोलर आंगस फ्रेजर इस मामले में सबसे आगे हैं और उन्होंने दो बार यह कारनामा किया है। 1993-94 में ब्रिजटाउन में उन्होंने 75 रन देकर 8 विकेट लिए थे और 1997-98 में उन्होंने 53 रन देकर 8 विकेट लिए थे। वेस्ट इंडीज के कोरी कॉलीमोर ने भी दो बार ऐसा किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.