2.2 करोड़ लोगों ने फाइल किया ई-रिटर्न

नई दिल्ली। इनकम टैक्स डिपार्टमेट ने इस वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में 14,332 करोड़ रुपये मूल्य के 54 लाख कर रिफंड जारी किये हैं। इसमें से 3 हजार करोड़ रुपये मूल्य के 21 लाख रिफंड तो आकलन वर्ष 2016-17 के लिए हैं। रिटर्न फाइल करने की लास्ट डेट 5 अगस्त थी।
यह पहली बार है जब सरकार ने रिटर्न भरने की डेट खत्म होने से पहले ही इतनी भारी संख्या में टैक्स सरप्लस रिफंड किये हैं। वित्त वर्ष 2016-17 के लिए पांच अगस्त तक 2 करोड़ 26 लाख लोगों ने ई-रिटर्न फाइल किया है। वित्त वर्ष 2015-16 में सिर्फ 71 लाख लोगों ने अपना रिटर्न ई-फाइल किया था।
वित्त मंत्रालय के एक बयान के अनुसार ई-रिटर्न फाइल करने में 9.8 प्रतिशत की ग्रोथ हुई है। इस बार ई-वेरीफिकेशन सुविधा का इस्तेमाल करने की वजह से तेजी से रिफंड करना मुमकिन हुआ है। पांच अगस्त तक 75 लाख लोगों ने आईटी रिटर्न को ई-वेरिफाई किया है। वहीं पिछले साल सात सितंबर तक सिर्फ 33 लाख लोगों ने ई-रिटर्न को वेरिफाई किया था।
इस बार 17 लाख करदाताओं ने आधार कार्ड पर आधारित ई-वेरिफिकेशन का इस्तेमाल किया गया था। 35 प्रतिशत लोगों ने पहले ही रिटर्न भरने के पूरे प्रॉसेस को पूरा कर लिया है। इनकम टैक्स विभाग करदाताओं को उनके रिटर्न फॉर्म को आईटी सेंट्रल प्रॉसेसिंग सेंटर बेंगलुरु (ष्टक्कष्ट) में भेजने की बजाय ई-वेरिफिकेशन का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.