18 अप्रैल को खुलेंगे गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट

उत्तरकाशी। गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट आगामी 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया पर्व पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जायेंगे। मुहूर्त के अनुसार जहां गंगोत्री धाम के कपाट 1:15 पर तो वहीं यमुनोत्री धाम के कपाट ठीक एक घंटे पहले 12:15 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए वैदिक मंत्रोचारण के साथ खोल दिए जायेंगे।

इसके बाद चारधाम यात्रा भी विधिवत शुरू होगी और देश विदेश से आने वाले श्रद्धालु गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम में ही मां गंगा व यमुना के दर्शन कर सकेंगे। शुक्रवार को यमुना जयंती के उत्सव पर्व पर मां यमुना के मायके खरसाली में यमुनोत्री मंदिर समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में चारधाम यात्रा के प्रथम धाम यमुनोत्री धाम के कपाट उद्घाटन का शुभ मुहूर्त निकाला गया।

मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल ने बताया कि शीतकालीन प्रवास खरसाली (खुशीमठ) से सुबह नौ बजे मां यमुना की डोली शनि देव की अगुवाई में सैकड़ो श्रद्धालुओं के साथ यमुनोत्री धाम के लिए प्रस्थान करेंगी।

जो दोपहर 11 बजे यमुनोत्री धाम पहुंचेगी। जहां अक्षय तृतीया के पर्व पर सिद्ध योग व अभिजीत मुहूर्त में वैदिक मंत्रोचारण एवं विधिवत पूजा अर्चना के साथ दोपहर 12:15 मिनट पर यमुनोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जायेंगे।

इसके बाद देश विदेश से आने वाले श्रद्धालु अगले छह माह तक मां यमुना के यमुनोत्री धाम में ही दर्शन कर सकेंगे। वहीं गंगोत्री धाम के कपाट भी इसी दिन 1:15 मिनट पर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जायेंगे। यमुना जयंती पर खरसाली गांव में कलश यात्रा निकालने के साथ ही विविधत पूजन कार्य भी संपादित किये गये।

इस मौके पर मौजूद पुरुषोत्तम उनियाल, जय प्रकाश, बागेश्वर प्रसाद, यमुनोत्री मंदिर समिति के उपाध्यक्ष जगमोहन, कोषाध्यक्ष श्याम सुंदर, जय प्रकाश, वेद प्रकाश आदि मौजूद थे।

PropellerAds